प्लाट बेचने के नाम पर धोखाधड़ी, तीन पर केस

Spread the love

हरिद्वार। पूर्व सैनिक से प्लाट बेचने के नाम पर धोखाधड़ी करने के मामले में कनखल पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
पुलिस के मुताबिक दलवीर सिंह रावत पुत्र स्व़क केशर सिंह रावत निवासी केयर अफ कुलदीप सिंह रावत राजागार्डन गली नं़ पांच जगजीतपुर ने पुलिस को शिकायत देकर वह पूर्व सैनिक हैं। वर्तमान में पीएनबी की कोटद्वार शाखा में बैंक सुरक्षा कर्मी के रूप में तैनात हैं। उनके बड़े भाई कुलदीप सिंह रावत हरिद्वार में रहते हैं। उन्होंने यहां अपना मकान बनाने के लिए वर्ष 2013 में प्लाट की तलाश की। इसी बीच उनकी मुलाकात महेश चंद्र कुशवाह पुत्र चन्द्रपाल सिंह से हुई। महेश ने शीतला मां विहार फेस-3 ग्राम जियापोता में अपना प्लाट बताया। जिसके बाद उन्होंने महेश से प्लाट खरीद लिया। उसी वर्ष प्लाट की रजिस्ट्री कराई। आरोप है कि उनके बड़े भाई कुलदीप प्लाट की देखरेख करने के लिए वहां गए तो पहले से खड़े कुछ लोगों ने प्लाट की रजिस्ट्री, दाखिला खारिज अपने नाम दिखाई। ये जानकारी मिलने के बाद दलवीर रावत ने हरिद्वार आकर प्लाट की दूसरी रजिस्ट्री के बारे में तहसील से दस्तावेज प्राप्त किए। जहां से रजिस्ट्री में सोम सिंह निवासी कटारपुर अलीपुर को दर्शाया गया था। जिसने यह प्लाट शिल्पी निवासी प्रेमनगर देहरादून को बेचा हुआ था। प्लाट की रजिस्ट्री में गवाह के रुप में महेश कुशवाहा, संजय कुमार पुत्र बलराम निवासी पहाड़ी बाजार कनखल थे। कनखल थाना प्रभारी ओसीन जोशी ने बताया कि धोखाधड़ी के मामले में महेशचंद कुशवाहा पुत्र चंद्र पाल सिंह निवासी ब्रहमविहार फेस-2 लाटोवाली, सोम सिंह पुत्र सुमेरु, मोहित चौहान पुत्र सोम सिंह निवासी ग्राम कटारपुर अलीपुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!