भारत 35 दिनों में 10वीं मिसाइल के परीक्षण को तैयार, अगले हफ्ते की शुरुआत में दागेगा निर्भय

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी । रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) अगले हफ्ते की शुरुआत में 800 किलोमीटर रेंज की निर्भय सब-सोनिक क्रूज मिसाइल का परीक्षण करेगा।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सेना और नौसेना में शामिल करने की औपचारिक शुरुआत से पहले रकेट बूस्टर मिसाइल को अंतिम रूप दिया जा रहा है। पिछले 35 दिनों में भारत के प्रमुख रक्षा अनुसंधान संगठन द्वारा यह दसवीं मिसाइल परीक्षण होगी।
डीआरडीओ ने मेड इन इंडिया की रणनीति के तहत परमाणु और पारंपरिक मिसाइलों के विकास को तेजी से उत्पादनकरने का प्रयास किया है। डीआरडीओ ने करीब एक महीने में हर चौथे दिन में एक मिसाइल दागी है, जोवास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से पीटे हटने के लिए चीन के इनकार की पृष्ठभूमि के खिलाफ डीआरडीओ की तैयारी को दर्शाता है।
चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने इस साल पांचमई को लद्दाख की पैंगोंग त्सो झील के उत्तरी किनारे पर भारतीय सैनिकों के साथ पहली बार टकराव किया था, जिसके बादपूर्वी लद्दाख मेंचार स्थानों को लेकर दोनों देशों के बीचतेजी से गतिरोध पैदा हो गया। यह गतिरोधजून मेंखूनी संघर्ष में बदल गया, जिसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे।चीन ने भी नुकसान होने की बात मानी थी, लेकिन सैनिकों की संख्या बताने से मना कर दिया।
पिछले चार दशकों में पहली बार था जब दोनों देशों के सैनिकों के बीच इस सीमा पर खूनी संघर्ष हुआ। इतना ही नहीं दो महीने से भी कम समय बाद, फिर गोलीबारी हुईजब भारतीय सैनिकों ने 700 वर्ग किलोमीटर में फैली सुरम्य खारे पानी की झील के उत्तरी किनारे की ऊंचाइयों पर कब्जा कर लिया।
दोनों देशों ने राजनयिकों, सैन्य अधिकारियों और मंत्रियों के स्तर पर कई दौर की बातचीत हुई, सोमवार (12 अक्तूबर) को एक और बातचीत का दौर निर्धारित है,लेकिन चीन तनाव बढ़ाने से पहले अपने पुरानी जगह पर वापस जाने से हिचक रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!