सीएम ने प्राचीन वास्तु शिल्प पर निर्मित होम-स्टे ‘‘हिमालयन बंग्लो‘‘ का निरीक्षण किया

Spread the love

अल्मोड़ा। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज जनपद भ्रमण के दौरान होली एंजिल पब्लिक स्कूल के निकट प्राचीन वास्तु शिल्प पर निर्मित होम-स्टे ‘‘हिमालयन बंग्लो‘‘ का निरीक्षण किया। पर्यटन विभाग के दीनदयाल होम-स्टे योजना के अन्तर्गत वित्त पोषित इस होम-स्टे का अवलोकन कर मा0 मुख्यमंत्री द्वारा बेहद प्रंशसा की गयी। उन्होंने कहा कि जनपद में पर्यटन की अपार सम्भावनायें है जिसमें होम-स्टे के अन्तर्गत पर्यटन को बढाया जा सकता है इसके माध्यम से यहॉ की लोक संस्कृति एवं वास्तुकला को देखने के लिए पर्यटक आकर्षित होंगे। इस होम-स्टे में जिस प्रकार की वास्तुशिल्प का प्रयोग किया गया वह अपने आप में अनुकरणीय उदाहरण है। उन्होंने कहा कि अन्य लोगो को भी इस तरह के होम-स्टे बनाकर पर्यटन को बढ़ावा देना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुमाऊनी शैली पर आधारित इस होम-स्टे की थीम सराहनीय है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड का वास्तुशिल्प एवं संस्कृति बहुत ज्यादा धनी है जिसका उपयोग कर हम यहॉ पर रोजगार के अवसर पैदा कर पलायन को रोक सकते है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में होम-स्टे को लेकर कई दिक्कते हो रही है इसके लिए निर्णय लिया गया है कि सभी होम-स्टे संचालकों, बैंक अधिकारियों व पर्यटन आदि से जुड़े विभागीय अधिकारियों की एक संयुक्त बैठक कराकर आ रही दिक्कतों को दूर किया जा सके। इस होम-स्टे के संचालक कमल कपूर द्वारा मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह् देकर उनका स्वागत किया और होम-स्टे के निर्माण एवं इसके संचालन की विस्तार से जानकारी दी।
इस अवसर पर विधानसभा उपाध्यक्ष मा0 रघुनाथ सिंह चैहान, उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डा0 धन सिंह रावत, बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्या, सांसद अजय टम्टा, पूर्व विधायक कैलाश शर्मा, सहकारी बैंक अध्यक्ष ललित लटवाल, जिलाध्यक्ष रवि रौतेला, भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश प्रभारी गौरव पाण्डे, महामंत्री महेश नयाल, विनीत बिष्ट, आयुक्त कुमाऊ मण्डल अरविन्द सिंह हयांकी, पुलिस महानिरीक्षक अजय रौतेला, जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज पाण्डे, मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे, उपजिलाधिकारी सीमा विश्वकर्मा, मोनिका के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!