कॉर्बेट से सटे गांवों में आज भी मूलभूत सुविधाएं नहीं

Spread the love
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत से रिखणीखाल ब्लॉक के जिला पंचायत सदस्य विनयपाल सिंह नेगी, क्षेत्र पंचायत सदस्य कर्तिया विनीता ध्यानी ने मुलाकात की। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य बनने के बीस साल बाद भी क्षेत्र विकास में पिछड़ा हुआ है। कई गांवों में अभी तक मूलभूत सुविधा सड़क, बिजली, दूरसंचार की सुविधा नहीं मिल पाई है। जिस कारण क्षेत्र के लोग पलायन करने को मजबूर है। उन्होंने वन मंत्री से क्षेत्र में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की। वन मंत्री ने समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन दिया।
वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत से मुलाकात करते हुए क्षेत्र पंचायत सदस्य कर्तिया विनीता ध्यानी ने कहा कि रिखणीखाल ब्लॉक के कार्बेट नेशनल पार्क से लगे गांव आज भी विकास में पिछड़े हुए है। इन गांवों में अभी तक सड़क नहीं पहुंच पाई है। जिस कारण ग्रामीणों को कई किलोमीटर पैदल जाना पड़ता है। उन्होंने कार्बेट नेशनल पार्क से लगे गांवों के विकास हेतु तैड़ियाखाल से तैड़िया गांव तक जीप रोड़, जिला योजना से लाभान्वित गांव के रास्तों की सफाई, गांवों में लैंटाना उन्मूलन को कैंपा योजना से करवाने, आरओ मैदावन के तानाशाही रवैए के खिलाफ कार्रवाई करने, क्षतिग्रस्त व नवयोजित वन मोटर मार्गों के प्रस्ताव पारित करने, वन्य जीव बहुल इलाकों में घेरबाड़, सुरक्षा बाड़ लगाने, पार्क में बसे तैड़िया व पांड गांव के लोगों के लिए कालिंको गेट से निर्बाध आवागमन हेतु  विभाग से आवश्यक स्थायी आदेश निर्गत कराने की मांग वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत से की। जिला पंचायत सदस्य विनयपाल सिंह नेगी ने कहा कि श्रमिक कार्ड बनने के बाद भी खातों में अभी तक पैसे नहीं आये है। क्षेत्र के पंजीकृत श्रमिकों को अभी तक सामान वितरित नहीं किया गया है। उन्होंने श्रम मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत से श्रमिकों के खाते में जल्द से जल्द पैसे ट्रांस्फर करने और सामान वितरित करने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!