पूर्व विधायक ने की सीएम व पेयजल मंत्री से मुलाकात

Spread the love

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ विधानसभा की पूर्व विधायक आशा नौटियाल ने मुख्यमंत्री व पेयजल मंत्री से मुलाकात कर केदारनाथ विधानसभा की समस्याओं से अवगत कराया। साथ ही उनके निराकरण की मांग की। पूर्व विधायक ने मुलाकात के दौरान केन्द्र सरकार की चार धाम योजना में कर्णप्रयाग-गौरीकुण्ड रेलवे लाइन पर भगवान केदारनाथ के शीतकालीन गद्दी स्थल ऊखीमठ में रेलवे स्टेशन खोलने, मदमहेश्वर घाटी के गडगू गांव में मोबाइल टावर लगाने, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ऊखीमठ का उच्चीकरण कर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का दर्जा देने, मणिगुह-स्यालडोभा-खाली-खमोली पूर्व में स्वीकृत मोटर मार्ग का निर्माण कार्य शुरू करने, रुद्रप्रयाग-गौरीकुण्ड राष्ट्रीय राजमार्ग पर कुण्ड-गुप्तकाशी के बीच मोटर मार्ग का डामरीकरण व सुधारीकरण करने, भूस्खलन प्रभावित गांवों का भूवैज्ञानिकों से सर्वे कराकर विस्थापित करने, तुंगनाथ घाटी के उषाड़ा गांव के 85 परिवारों का विस्थापन करने, तल्ला नागपुर के चोपता में बस पार्किंग निर्माण करने, विद्यापीठ में आयुर्वेदिक महाविद्यालय खोलने, एशिया के सबसे बड़े भेड़ प्रजनन केन्द्र चिलियाखोड मक्कू में चार दीवारी निर्माण व रिक्त पदों पर भरपाई करने, चुन्नी बैण्ड-विद्यापीठ मोटर मार्ग का डामरीकरण करने, तल्ला नागपुर में 2006 में स्वीकृत मवाधार-चामक तीन किमी, मोटर मार्ग का निर्माण कार्य शुरू करने, क्यूजा घाटी के राउमावि बाडव का उच्चीकरण कर इन्टर का दर्जा देने, डीफार्मा प्रशिक्षित बेरोज़गारों को फार्मसिस्ट के पदों पर भर्ती करने तथा क्रौंच पर्वत पर विराजमान भगवान कार्तिक स्वामी तीर्थ को जोड़ने वाले सभी पैदल ट्रैकों को विकसित करने की मांग की है। पूर्व विधायक की मांग पर सीएम ने उचित कार्रवाई का भरोसा दिया है। पूर्व विधायक ने पेयजल मंत्री से मां मनणामाई तीर्थ से निकलने वाली मदानी नदी, द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के धाम से निकलने वाली मधुगंगा और तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ के धाम से निकलने वाली आकाशकामिनी नदियों को नमामि गंगे योजना में शामिल करने, गुप्तकाशी व पिगलापाणी-ऊखीमठ पेयजल योजनाओं का पुनर्गठन करने, जल जीवन मिशन के भौरगाड-कमसाल पेयजल योजना के द्वितीय चरण मूल स्रोत पर टैंक निर्माण के लिए 70 लाख रुपये की स्वीकृति देने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!