सफाई कर्मियों की अनिश्चित कालीन हड़ताल जारी, जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर

Spread the love

अल्मोड़ा। ठेका प्रथा समाप्त करने समेत लंबित मांगों के निराकरण को सफाई कर्मियों की अनिश्चित कालीन हड़ताल जारी है। जिससे नगर की मुख्य बाजार समेत गली-गली कूड़े के ढेर से पट गए है। आंदोलनरत कर्मियों ने बुधवार को भी देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ के बैनर तले पालिका प्रागंण में धरना दिया। सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मांग पूरी नही होने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी। इस मौके पर कर्मचारियों ने कहा कि ठेका प्रथा समाप्त करने समेत 11 सूत्रीय मांगों के निराकरण को लंबे समय से कर्मचारी मांग कर रहे है। लेकिन उनकी मांगों पर गौर नही किया जा रहा है। कहा कि पूर्व में भी दो बार वार्ता की गई। पर मांगों पर कोई सकारात्मक कार्रवाई अब तक नही हो पाई है। जिससे कर्मचारियों में भारी आक्रोश व्याप्त है। कहा कि कोरोना काल में भी कर्मचारी पूरे मनोयोग से काम पर जूट रहे है। लेकिन कर्मियों को प्रोत्साहन देने के बजाय सरकार उनकी न्यायोचित मांगों को ही पूरा नही कर रही है। जिस कारण अब मजबूरन कर्मचारियों को आंदोलन की राह पकड़नी पड़ी। इस दौरान सभी कर्मचारियों ने एक स्वर में जल्द से जल्द मांगों के निराकरण को आवाज उठाई। मांग पूरी नही होने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी।
ईद पर सफाई नही होने से परेशानी हुई दोगुनी: ईद के दिन भी सफाई नही होने से लोगों को भारी परेशानी झेलनी पड़ी। वहीं बारिश के चलते कूड़ा सड़कों पर फैल गया। जिससे उठने वाली दुर्गंध से लोगों को खासी परेशानी हुई। वहीं अब बरसात के मौसम में तीन दिन से कूड़ा नही उठने के चलते लोगों को घातक बीमारी का भय सताने लगा है। मजबूरन लोगों को जगह-जगह लगे कूड़े के ढेरों से गुजरना पड़ रहा है।
ये लोग रहे मौजूद: शाखा अध्यक्ष सुरेश केसरी, जिला अध्यक्ष दीपक चंदेल, शाखा महासचिव राजेश टांक, सतीश कुमार, दीपक शैलानी, राजेंद्र कुमार, यशपाल, शंकर, चेतन, अमर, मुकेश, ब्रजेश, धनश्याम, सागर, प्रियांशु, कार्तिक, विजेंद्र, आशीष, आकाश, अनिल, मनोज, सुमित, गुड्डू, अखण, दर्शन, चंदन आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!