स्कैप चैनल के शासनादेश को वापस लेने की माँग को लेकर धरना जारी

Spread the love

हरिद्वार। तीर्थ पुरोहितों के द्वारा स्कैप चैनल के शासनादेश को वापस लेने की माँग को लेकर चल रहा धरना अड़तीसवें दिन में प्रवेश कर गया है। उपवास पर बादल वशिष्ठ व अनमोल शर्मा रहे। आज बादल वशिष्ठ ने कहा के पौराणिक काल से माँ गंगा जी की अविरल धारा है। जिसको सनातन धर्म को मानने वाला हर व्यक्ति इसे माँ ही कहता है तो फिर क्यों सरकार इस शासनादेश को रद्द नहीं कर रही। अपने ही पुरोहितों को दिये वचन से सरकार कैसे पलट सकती है। सौरभ सिखौला ने कहा के कैसे माँ गंगा की अविरल धार मात्र सर्वदानंदन घाट से हरकी पैड़ी से डामकोठी, डामकोठी से सती घाट दक्ष मंदिर तक का भाग ही सकैप चैनल है। सर्वदानंदन घाट से पहले माँ गंगा जी ही हैं और दक्ष मंदिर के घाट के आगे भी माँ गंगा जी हैं। साढे अठारह वर्षों से हरिद्वार विधायक और दूसरी बार के कैबिनेट मिनिस्टर मदन कौशिक जी क्यों चुप हैं ? मंत्री जी बताएँ के कैसे आपके ही क्षेत्र में माँ गंगा का ये अपमान आप देख रहे हैं। क्या माँ गंगा आपकी माँ नहीं हैं ? आप समाज को बताएँ के आपके मन जीवन में माँ गंगा क्या स्थान रखती हैं। तीर्थ पुरोहित समाज पिछले साढ़े तीन वर्षों से आपसे एक ही बात कह रहा है। आप केवल और केवल आश्वासन ही देते आ रहे हैं। अब बहुत समय निकल गया आपको भी तीर्थ समाज को जवाब देना चाहिए। ये माँ गंगा के सम्मान का विषय है। हम आपसे सही जवाब की अपेक्षा करते हैं। धरना स्थल पर अनिल कौशिक, उमाशंकर वशिष्ठ, सौरभ सिखौला, नितिन पालीवाल, मोहित गोस्वामी, सुनील चाकलान, बादल वशिष्ठ, विमल कौशिक पटुवर, निखिल शर्मा, अभिषेक वशिष्ठ, हिमांशु वशिष्ठ, अमित झा, राजीव झा, रमन पचभैय्या, राकेश विधयाकुल, पवन पचभैय्या, सुशील चाकलान, आदित्य वशिष्ठ, सौरभ गौतम आदि पुरोहित मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!