जल्द ही शहर में घूम रहे आवारा पशुओं को दिखाया जाएगा गोसदन का रास्ता

Spread the love

– काशीरामपुर तल्ला में नगर निगम बना रहा है आवारा पशुओं के लिए गोसदन
– कई बार हाईवे पर दुर्घटनाओं का कारण बन चुके हैं आवारा पशु
– चयनित जमीन के स्थानांतरण में लेटलतीफी होने के कारण गोसदन बनने में हुई देरी
वैभव भाटिया,
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। सड़कों पर घूम रहे आवारा पशु कई बार सड़क दुर्घटनाओं और राह चलते लोगों को चोटिल करने का कारण बन चुके हैं। नगर निगम कोटद्वार ने दुर्घटनाओं का कारण बन रहे इन आवारा पशुओं को गोसदन पहुंचाने की तैयारी कर ली है।
नगर निगम कोटद्वार ने नगर में घूम रहे आवारा पशुओं के लिए अपने वार्ड काशीरामपुर तल्ला में गोसदन बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। गोसदन का निर्माण कार्य लगभग 30 प्रतिशत पूर्ण हो गया है। गोसदन काशीरामपुर तल्ला में बनाने का 74 लाख रूपये का प्रस्ताव काफी समय पूर्व नगर निगम शासन को भेज चुका है। जिसमें 29 लाख रूपये शासन ने स्वीकृत भी कर दिए, लेकिन काशीरामपुर तल्ला की चयनित जमीन के स्थानांतरण कार्य में लेटलतीफी होने के कारण गोसदन का कार्य देरी में हुआ। अब जमीन स्थानांतरण का कार्य पूर्ण होने के बाद गोसदन का कार्य जोरों-शोरों से शुरू हो गया है।
दरअसल, नगर में घूम रहे आवारा पशु हाईवे पर बीचों-बीच बैठ जाते हैं, जिससे कई बार वहां से आवाजाही करने वाले दोपाहिया वाहन चालक गंभीर रूप से चोटिल हो चुके हैं। इसके अलावा हाईवे पर चल रहे राहगीरों को भी आवारा पशु कई बार चोटिल कर चुके हैं। आवारा पशुओं को हाईवे और गली मौहल्लों से हटाने के लिए कई बार स्थानीय लोग मौखिक रूप से नगर निगम को अवगत करा चुके है। जिसके बाद निगम के कर्मचारी उन्हें हटाते हैं, लेकिन कुछ देर बाद फिर से आवारा पशु सड़कों पर आ जाते हैं। जिसके लिए गोसदन का निर्माण कार्य शुरू किया गया है।
नगर निगम कोटद्वार के नगर आयुक्त पीएल शाह ने बताया कि गोसदन के काशीरामपुर तल्ला में चयनित जमीन के स्थानांतरण में काफी समय लग गया। जिसके कारण गोसदन के निर्माण कार्य में देरी हुई है। कहा कि अब गोसदन का कार्य शुरू करा दिया गया है। जल्द ही यह गोसदन बनकर तैयार हो जाएगा। जिसके बाद सड़कों पर घूम रहे आवारा पशुओं को गोसदन का रास्ता दिखाया जाएगा। इससे सड़क पर आवारा पशुओं की वजह से हो रही सड़क दुघटनाओं पर अंकुश लग सकेगा।
फोटो दो संलग्न है।
फोटो 2 का कैप्शन:- हाईवे पर खड़ा आवारा पशु।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!