केदारनाथ हाईवे बाधित, लोग परेशान

Spread the love

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ हाईवे तीन स्थानों पर भूस्खलन, भू धंसाव और मलबा आने से बंद पड़ा है। बीते तीन दिन से यहां आवाजाही ठप पड़ी है। कुछ स्थानों पर मलबा साफ करने का प्रयास भी किया जा रहा है, किंतु लगातार बारिश और भूस्खलन से एनएच को हाईवे खोलने में मुश्किलें पेश आ रही है। इधर तीन दिनों से हाईवे की स्थिति ठीक न होने पर क्षेत्रीय लोगों ने प्रशासन और एनएच के खिलाफ रोष व्यक्त किया है।केदारघाटी में हो रही बारिश के चलते केदारनाथ हाईवे बांसवाड़ा में जोखिमभरा हो गया है। यहां पहाड़ी से मलबा और बोल्डर गिरने का सिलसिला जारी है जिससे एनएच लोनिवि को भी हाईवे खोलने में मुश्किलें पेश आ रही हैं। तीन दिन में यहां मुश्किल से कुछ ही घंटों आवाजाही हो सकी है। वहीं गुप्तकाशी विद्याधाम के पास भू धंसाव के बाद हाईवे खतरनाक बना है। यहां भी गुप्तकाशी मंदिर मार्ग से वाहनों की आवाजाही कराई जा रही है। जबकि सोनप्रयाग और गौरीकुंड के बीच मुनकटिया में मलबा आने से हाईवे बंद है। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि प्रशासन और एनएच लोनिवि द्वारा हाईवे को लेकर गंभीरता नहीं बरती जा रही है, जिस कारण बीते तीन दिन से बांसवाड़ा, विद्याधाम और मुनकटिया में बेहतर इंतजाम नहीं हुए हैं। साथ ही कई जगहों पर भी हाईवे पर दुर्घटना की संभावना बनी है। इधर बांसवाड़ा बंद होने पर वैकल्पिक मार्ग के रूप में उपयोग किया जाने वाला बष्टी-बुसकेदार मार्ग भी पुल के समीप धंसने से बंद हो गया है। अब लोगों को अगस्त्यमुनि विजयनगर बसुकेदार होते गुप्तकाशी जाना पड़ रहा है यह दूरी काफी अधिक है जिससे लोगों को अतिरिक्त दूरी के साथ अधिक किराया भी देना पड़ रहा है। वहीं कुंड गोपेश्वर मार्ग भी ताला के पास बंद है। एनएच के ईई जेपी त्रिपाठी ने बताया कि तीनों स्थानों पर हाईवे खोलने के प्रयास चल रहे हैं। जेसीबी चौबीसों घंटे मौके पर हैं जबकि बारिश और पत्थर गिरने की स्थिति में जोखिम को देखते हुए कार्य नहीं हो पा रहा है। जन हित को देखते हुए विभागीय स्तर पर हाईवे खोलने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!