मोबाइल पर मैसेज नहीं आया तो बूथ से मिलेगी पर्ची

Spread the love

देहरादून। राज्य में 16 जनवरी से शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान के दौरान यदि किसी स्वास्थ्य कर्मी को कोविन पोर्टल से वैक्सीनेशन के संदर्भ में एसएमएस जेनरेट होने के बावजूद मैसेज नहीं मिलता तो ऐसे में स्वास्थ्य कर्मी को पर्ची के जरिए टीकाकरण के लिए बुलाया जाएगा। राज्य में मोबाइल नेटवर्क और इंटरनेट कनेक्टिविटी की समस्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से यह प्लान तैयार किया गया है। केंद्र सरकार ने टीकाकरण के लिए यह व्यवस्था बनाई है कि कोविन पोर्टल से मैसेज जारी होने के बाद ही कोई भी स्वास्थ्य कर्मी टीकाकरण के लिए तय बूथ पर पहुंचेगा।
लेकिन राज्य में कई इलाकों में नेटवर्क की गंभीर समस्या है। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्लान बी तैयार किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के सचिव अमित नेगी ने बताया कि यदि कोविन पोर्टल से टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य कर्मी को मैसेज भेजा गया है और वह कर्मचारी के मोबाइल पर नहीं पहुंचा है तो बूथ पर तैनात अफसर ऐसे लोगों के लिए वोटिंग की तर्ज पर एक पर्ची देंगे जिसके आधार पर तय स्वास्थ्य कर्मी का टीकाकरण किया जाएगा।
स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि विभाग को ऐसी समस्या पर्वतीय जिलों में आने की आशंका है। इसीलिए एसएमएस न आने पर पर्ची की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा इंटरनेट की दिक्कत को देखते हुए कोविन साफ्टवेयर पर ऑफ लाइन डाटा फीड करने की सुविधा भी दी गई है। टीकाकरण ड्यूटी में तैनात कर्मियों से कहा गया है कि यदि इंटरनेट नहीं है तो ऑफ लाइन कार्य किया जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से दी गई 1.13 लाख कोविशील्ड की खुराक से राज्य के पचास हजार स्वास्थ्य कर्मियों को ही टीका लग पाएगा। राज्य में राज्य, केंद्र और सैन्य स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या 87 हजार के आसपास है। ऐसे में कई स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकरण के लिए कुछ समय का इंतजार करना पड़ेगा। राज्य को मिली सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन अगले छह महीनों तक खराब नहीं होगी। सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी ने बताया कि वैक्सीन की एक्सपायरी छह माह बाद होगी और उससे पहले ही इन सभी वैक्सीन को उपयोग कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि वैक्सीन को कोल्ड स्टोर पर माइनस 25 डिग्री तक रखा जाएगा लेकिन जब बूथ पर स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा तो उस वक्त वैक्सीन के लिए 2 से आठ डिग्री के बीच का तापमान चाहिए होगा। टीकाकरण अभियान को लेकर पूरी सतर्कत बरती जा रही है। हर टीकाकरण केंद्र की विडियोग्राफी की जाएगी। ताकि पूरा एहतियात बरता जा सके।वीडियोग्राफी को लेकर स्वास्थ्य विभाग के स्तर पर विशेष तैयार की गई है।
कोविड 19 वैक्सीन टीकाकरण को लेकर पूरी तैयारी है। वैक्सीन के आने से लेकर उसके स्टोरेज का पुख्ता इंतजाम किया गया है। राज्य में टीकाकरण से पहले ड्राई रन भी सफलता के साथ कई चरणों में पूरा भी किया गया है। टीकाकरण की मुहिम में पूरी सफलता के साथ पूरी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!