एनएसयूआई ने केन्द्रीय एचआरडी मंत्री की निकाली शव यात्रा 

Spread the love
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने केन्द्रीय एचआरडी मंत्री की शव यात्रा निकालकर कोरोना महामारी के दौरान नीट और जेईई परीक्षाएं कराने का विरोध किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान विश्वव्यापी कोरोना रूपी महामारी से संकटग्रस्त समय में भी जेईई एवं नीट की परीक्षाएं कराने के फैसले से लाखों परिजन एवं छात्रों को परेशानी हो रही है। कोरोना महामारी के कारण सीमित यातायात की व्यवस्थाएं भी छात्र-छात्राओं के लिए परेशानी का सबब बन रही हैं। केंद्र सरकार के फैसले के कारण छात्र-छात्राओं में मानसिक तनाव व्याप्त हो गया है। कार्यकर्ताओं ने जेईई एवं नीट की परीक्षाएं स्थगित कर छात्रों एवं अभिभावकों को परेशानी से दूर करने की मांग की।
पूर्व प्रदेश सचिव एनएसयूआई अजय रावत के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने मालवीय उद्यान से तहसील तक केन्द्रीय मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक की शव यात्रा निकाली। अजय रावत ने कहा कि इस समय पूरी दुनिया में कोरोना महामारी फैली हुई है। भारत में भी दिन प्रतिदिन कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। लेकिन सरकार द्वारा नीट और जेईर्ई की परीक्षा कराने का निर्णय लिया गया है। जिससे छात्र-छात्राओं की जान को खतरा हो सकता है। साथ ही यह वायरस बहुत तेजी से फैल सकता है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में नीट और जेईई की परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की जा रही है। ताकि छात्र सुरक्षित रहे। इस अवसर पर एनएसयूआई जिला महासचिव सौरव पाण्डेय, छात्रसंघ उपाध्यक्ष भाष्कर, राजा आर्य, बॉबी बिष्ट, सलीम, जावेद, नरेश कोटनाला, संदीप, चिराग आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!