पूर्व प्रधानाचार्य विमला आर्य के निधन पर जताया शोक

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। शैलशिल्पी विकास संगठन की सक्रिय सदस्य, सलाहकार पदमपुर सुखरो निवासी सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य श्रीमती विमला आर्य धर्मपत्नी मनवर सिंह आर्य के आकस्मिक निधन पर संगठन के सदस्यों ने शोक व्यक्त करते भावभीनी श्रद्धाजंलि दी।
संगठन के महासचिव विकास कुमार आर्य ने शोक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य श्रीमती विमला आर्य का शनिवार रात को जौलीग्रांट हॉस्पिटल में हृदय गति रुकने से निधन हो गया है। दिवंगत विमला आर्य ने दशकों शिक्षा विभाग में एक प्रगतिशील शिक्षिका के रूप में अपनी सेवाएं दी। वह ज्योतिबा फूले व देश की प्रथम महिला शिक्षिका श्रीमती सावित्रीबाई फूले से प्रेरित होकर महिलाओं एवं कमजोर वर्गों को शिक्षा के मार्ग पर आने को प्रेरित किया करती थी। श्रीमती आर्य के पति मनवर सिंह आर्य भी प्रधानाध्यापक के पद से सेवानिवृत्त होकर सामाजिक, राजनीतिक क्षेत्र में सक्रियता से कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि स्व. विमला आर्य का परिवार समाज के कमजोर, वंचित, शोषित, पिछड़ों के लिए एक उदाहरण है कि कोई भी व्यक्ति कोई भी परिवार शिक्षा के माध्यम से खुद का विकास करते हुए आगे की राह भी आसान कर सकता है। उन्होंने कहा कि श्रीमती आर्य संविधान निर्माता बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को एक आदर्श पुरुष की संज्ञा देती थी। वह कहती थी कि देश समाज की महिलाओं को डॉक्टर अंबेडकर साहब को सबसे पहले पढ़ना चाहिए और उनकी शिक्षाओं पर अमल करना चाहिए। शोक व्यक्त करने वालों में श्रीमती मीना बछवाण, श्रीमती विनीता भारती, देवेन्द्र आर्य, जयदेव सिंह आर्य, जयपाल सिंह चौधरी, अनिल कुमार, श्यामलाल खंतवाल, सतीश प्रकाश, सतीश ओडवाल, चन्द्रमोहन राणा, सत्येन्द्र खेतवाल, चन्द्रमोहन कोटनाला, भूपेन्द्र शिल्पी, शिवकुमार, सुरेन्द्र लाल आर्य, मनवर लाल भारती, राकेश शाह, जगमोहन भारद्वाज, अमित आदि शामिल थे।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दी श्रद्धाजंलि
कोटद्वार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनवर सिंह आर्य की धर्मपत्नी श्रीमती विमला आर्य के आकस्मिक निधन पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शोक व्यक्त करते हुए श्रद्घाजंलि दी।
गढ़वाल टॉकीज स्थित कांगे्रस कार्यालय में आयोजित शोक सभा में वक्ताओं ने कहा कि पूर्व प्रधानाचार्या श्रीमती विमला आर्य का जौलीग्रांट हास्पिटल में ह्दय गति रूकने से आकस्मिक निधन हो गया है। श्रीमती विमला आर्य ने सेवानिवृत्ति के बाद सामाजिक कार्यो में अपना योगदान देना शुरू कर दिया था। शोक व्यक्त करने वालों में पूर्व मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी, महापौर श्रीमती हेमलता नेगी, जिलाध्यक्ष डॉ़ चन्द्रमोहन खरक्वाल, महानगर अध्यक्ष संजय मित्तल, श्रीमती शकुंतला चौहान, कृष्णा बहुगुणा, विजय नारायण सिंह, हेमचंद्र पंवार, धीरेन्द्र सिंह बिष्ट, कृपाल सिंह, पुष्कर सिंह, बृजपाल सिंह, जितेन्द्र भाटिया, राजेन्द्र गुंसाई, विजय रावत, आशीष काला, पूजा त्यागी, विजेन्द्र चौधरी, भोपाल सिंह अधिकारी, शंकेश्वर प्रसाद सेमवाल, नत्थू सिंह अधिकारी, महावीर रावत, जीवन कोहली, रमेश चंद्र खंतवाल, वीडी नवानी आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!