प्रसूता स्वाति ध्यानी की मौत पर चेता विभाग, रिखणीखाल हॉस्पीटल के प्रभारी डाक्टर को हटाया

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। रिखणीखाल ब्लॉक निवासी स्वाति ध्यानी की मौत मामले में स्वास्थ्य विभाग ने बड़ी कार्यवाही की है। स्वास्थ्य विभाग ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रिखणीखाल के प्रभारी डॉक्टर को हटा दिया है। स्वाति ध्यानी की मौत के बाद लोगों में स्वास्थ्य विभाग के प्रति आक्रोश पनप रहा है। लोग पिछले काफी समय से शासन-प्रशासन से स्वास्थ्य केन्द्र के डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे है।
ज्ञात हो कि बमेला तल्ला रिखणीखाल निवासी 24 वर्षीय श्रीमती स्वाति ध्यानी पत्नी राजेन्द्र प्रसाद ध्यानी को प्रसव पीड़ा होने पर 28 जून 2020 को सीएचसी रिखणीखाल में भर्ती कराया गया था। जहां 29 जून को दोपहर करीब 3 बजे प्रसव पीड़ा के दौरान स्वाति ने एक पुत्र को जन्म दिया, जो कि मृत अवस्था में हुआ था। बच्चे के जन्म के बाद महिला का बहुत अधिक रक्तस्राव होने के कारण हालत ज्यादा बिगड़ गई थी। महिला की हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे हायर सेंटर राजकीय बेस अस्पताल कोटद्वार रैफर कर दिया था। 29 जून को रात को करीब साढ़े आठ बजे उसे बेस अस्पताल कोटद्वार में लाया गया था। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। पुलिस ने मृतका के शव का पोस्टमार्टम कराया था। स्वाति की मौत के बाद लोगों में स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ गुस्सा है। राजनीतिक पार्टियों सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोगों ने प्रदेश सरकार को ज्ञापन भेजकर घटना की उच्च स्तरीय जांच कराकर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग कर रहे है। अब स्वास्थ्य विभाग ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रिखणीखाल के प्रभारी डॉक्टर को वहां से हटा दिया है। डॉ. मनोज बहुखण्डी मुख्य चिकित्सा अधिकारी पौड़ी गढ़वाल ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रिखणीखाल के प्रभारी डॉ. को वहां से हटा दिया है। दूसरे डॉक्टर को वहां भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच चल रही है। जांच में दोषी पाये जाने पर आरोपियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!