भ्रष्टाचार से तंग पीआरडी जवान ने मांगी इच्छा मृत्यु, कहा- अधिकारी झूठा मुकदमा दर्ज कराने की दे रहे धमकी

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

रुद्रपुर । जीरो टलरेंस की सरकार सिर्फ बातों और दावों के पुल बांधने में जुटी हुई है, लेकिन वास्तविकता कुछ और ही है। भ्रष्टाचार से तंग आकर पीआरडी के जवान ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर इच्छा मृत्यु मांगी है (च्त्क् रूंंद कमउवदक मनजींदेंपं)।
ऊधम सिंह नगर में भ्रष्टाचार चरम पर है। कहीं नौकरी में धांधली, तो कहीं फर्जी दस्तावेज लगाकर नौकरी करने का मामला आम हो गया है। अब कुछ नए मामले भी प्रकाश में आने शुरू हो गए हैं। गदरपुर के पीआरडी के जवान तरुण कुमार शर्मा ने प्रांतीय रक्षक दल एंव युवा कल्याण विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर गंभीर आरोप लगाया है।
आरोप है कि जिला युवा कल्याण अधिकारी, क्षेत्रीय युवा कल्याण अधिकारी गदरपुर व पूर्व ब्लाक कमांडर ने कई अनियमितताएं की है। जिसमें हाल ही के गदरपुर के दो पीआरडी के जवानों ने मिलकर 10 फर्जी लोगों को पीआरडी की ड्यूटी थाने में लगा दिया। इसके एवज में युवाओं से रुपये ऐठें। इसके बाद भी दोनों आरोपित पीआरडी पर इन उच्चाधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके अलावा बाजपुर के पीआरडी नंदराम व शमी अहमद को नौकरी में लगाने वाले भी यही लोग हैं।
तरुण ने कहा है कि विभागीय अनियमितताओं के बारे में लगातार उसकी ओर से आरटीआई लगाई जाती है, जिससे विभागीय अधिकारी उनसे रंजिश रखते हैं। इतना ही नहीं झूठा मुकदमा पंजीत कराने की धमकी देते हैं, क्योंकि इन सबके काले चिठ्ठे उसके पास है। इस संबंध में कई बार शिकायत के बाद भी इन प्रकरणों की न तो जांच हुई और न ही इन पर कार्रवाई हुई। कहा है कि वर्ष, 2005 में एससी कोटे से पीआरडी की भर्ती होनी थी, लेकिन ओबीसी के लोगों को शामिल कर दिया। तरूण शर्मा ने कार्रवाई की मांग की है, कहा है कि कार्रवाई न हुई तो उसे इच्छामृत्यु की अनुमति प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!