इंटरनेशनल बुक ऑफ रेकाड्र्स में दर्ज हुई रागिनी की कविता

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार: कोटद्वार निवासी रागिनी अग्रवाल की कविता इंटरनेशनल बुक ऑफ रेकॉड्र्स में दर्ज हुई है।
द्विभाषीय अंतर्राष्ट्रीय साहित्यिक और सांस्कृतिक समूह ‘ईवा ज़िन्दगी ‘ द्वारा आज़ादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर इ-पत्रिका (ईवा ज़िन्दगी) का आज़ादी विशेषांक प्रकाशित किया गया, जिसमें दुनिया के दस देशों के 227 लेखकों,चित्रकारों और कवियों ने अपना योगदान दिया ’ मंच संस्थापिका (ईवा ज़िन्दगी )तथा इ-पत्रिका की प्रधान सम्पादिका अंजुला भदौरिया के अथक प्रयासों से इ-पत्रिका ने विश्व कीर्तिमान स्थापित किया। रागिनी अग्रवाल ने अपनी कविताओं के माध्यम से विश्व कीर्तिमान बनाया और वल्र्ड रेकॉर्ड होल्डर बनी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!