राज्य में कोरोना के दृष्टिगत हैल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया गया: सीएम

Spread the love

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि कोविड-19 को लेकर सर्विलांस, कान्टेक्ट ट्रेसिंग, सैम्पल टेस्टिंग, क्लिनिकल मैनेजमेंट और जन जागरूकता, इन
पांच बातों पर विशेष जोर दिया जा रहा है। कोविंड-19 से लङाई के लिये हर प्रकार की तैयारी की गई है। स्थिति काफी कुछ नियंत्रण में होने पर भी हम पूरी तरह
सतर्क हैं। राज्य में कोविड के दृष्टिगत हैल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को काफी मजबूत किया गया है। टेस्टिंग लैब, आईसीयू, वेंटिलेटर, पीपीई किट, एन 95 मास्क, आक्सीजन
सपोर्ट की पर्याप्त व्यवस्था मौजूद है। नियमित सर्विलांस सुनिश्चित किया जा रहा है। घर-घर जाकर कोरोना जैसे संदिग्ध लक्षणों वाले लोगों का पता लगाया जा रहा
है। इसमें आशा और आंगनबाङी कार्यकत्रियों द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जा रही है। लगभग सभी जिलों में सर्विलांस का एक राउंड पूरा किया जा चुका है। कई
जिलों में दूसरा तो कुछ में तीसरा राउंड चल रहा है।

देहरादून में कोरोना संक्रमितों की संख्या 755 पहुंची
देहरादून। जिलाधिकारी डॉं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत 86 सैम्पल जांच हेतु भेजे गये तथा 165 सैम्पल
प्राप्त हुए, जिनमें 13 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के फलस्वरूप जनपद में कोरोना पॉजिटिव संक्रमितों की संख्या 755 हो गई है, जिनमें 112 व्यक्ति वर्तमान में
उपचाररत् हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज कुल 290 व्यक्तियों के सैम्पल लिये गये। आशा कार्यकर्तियों की द्वारा जनपद देहरादून अन्तर्गत बनाये गये विभिन्न
कन्टेंमेंट जोन में व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत 2772 व्यक्तियों का फॉलोअप किया जा चुका है। अन्य राज्यों से
जनपद में पंहुचे कुल 535 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत क्वारेंटीन किया गया। कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु समस्त मेडिकल स्टोर
पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों का विक्रय प्रतिबन्धित किये जाने के उपरान्त समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा
जनपद में कुल 33 व्यक्तियों को चिकित्सकीय पर्ची के आधार पर सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयां विक्रय की गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!