राकेश टिकैत का बड़ा एलान, कहा- धरना स्थल पर टाक्टे तूफान से नुकसान के बाद अब किसान करेंगे पक्का निर्माण

Spread the love

नई दिल्ली। किसान आंदोलन को लेकर किसान नेता के तेवर तल्ख हो रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि किसान आंदोलन से पीटे हटने वाले नहीं है। छह माह का आंदोलन ज्यादा नहीं है। किसान तो 2024 तक आंदोलन के लिए तैयार हैं। जब तक तीनों षि कानून वापस नहीं होंगे तब तक वह पीटे नहीं हटेंगे। राकेश टिकैत बृहस्पतिवार को दिल्ली-जयपुर हाईवे स्थित शाहजहांपुर-जयसिंहपुर खेड़ा बार्डर पर षि कानून विरोधियों के धरना स्थल पर पहुंचे थे। उन्होंने बुधवार को आई आंधी व बारिश से धरना स्थल पर हुए नुकसान का जायजा लिया।
टिकैत ने कहा कि हिसार में सरकार व पुलिस द्वारा जो किया गया वह ठीक नहीं था। जो किसान घायल हुए है क्या सरकार उनकी शिकायत पर भी पर्चा दर्ज करेगी। उन्होंने कहा कि आंदोलन से बहुत सीखा है। आंदोलन ने उन्हें एकजुटता व मजबूती सिखाई है।
कोरोना बीमारी का रास्ता अस्पताल जाता है और किसान आंदोलन का रास्ता संसद जाता है। दोनों के रास्ते पूरी तरह से अलग हैं। उन्होंने कहा कि वैक्सीन सरकार के पास है और ठीकरा किसानों पर फोड़ा जा रहा है। सरकार र्केप लगा कर वैक्सीन लगवाए, किसी ने इंकार नहीं किया है।
उन्होंने कहा कि सरकार झूठ बोल रही है। सरकार के पास वैक्सीन ही नहीं है तो लगाएंगे कहां से। किसानों को तो सिर्फ बदनाम किया जा रहा है। आगामी 26 मई को देश भर में काला दिवस मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि धरना स्थल पर आंधी और बारिश से नुकसान हुआ है, लेकिन वह हटने वाले नहीं है। फिर से खड़े हो जाएंगे।
टीनशेड व अन्य निर्माण कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि तूफान की रफ्तार बहुत ज्यादा थी। कई राज्यों में तूफान से बड़ा नुकसान भी हुआ है। इस अवसर पर युद्घवीर सिंह, अमराराम, राजाराम, रामकिशन महलावत व डा़ संजय माधव सहित अन्य आंदोलनकारी नेता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!