रोहित शर्मा सहित 5 खिलाड़ी क्वारंटाइन, बायो-बबल प्रोटोकल तोड़ने की हो रही जांच

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। उपकप्तान रोहित शर्मा, उभरते सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल और विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत समेत पांच भारतीय टेस्ट क्रिकेटरों को क्वारंटाइन में रखा गया है और यह जांच की जा रही है कि उन्होंने जैव सुरक्षा प्रोटोकल का उल्लंघन तो नहीं किया है। क्रिकेट अस्ट्रेलिया ने शनिवार को यह जानकारी दी। बीसीसीआई ने पहले अपने स्तर पर जांच से इनकार किया लेकिन क्रिकेट अस्ट्रेलिया ने बाद में कहा कि मामले की संयुक्त जांच की जा रही है। इन पांचों को टीम के बाकी सदस्यों से अलग कर दिया गया है। इससे पहले एक फैन्स ने ट्विटर पर वीडियो डाली थी जिसमें ये पांचों एक इनडोर रेस्तरां में खाना खा रहे थे। उस व्यक्ति ने यह भी दावा कि उसने पंत को गले लगाया लेकिन बाद में यह ट्वीट हटा लिया।
बीसीसीआई ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा था कि हमारे खिलाड़ी बाहर रेस्टरेंट में सिर्फ खाना गए थे। उन्होंने इस दौरान सभी जरूरी प्रोटोकल का ध्यान रखा और इसका सख्ती से पालन किया। इस दौरान उनका टैम्प्रेचर भी मापा गया था। इसके अलावा उन्होंने टेबल पर बैठने से पहले सैनिटाइजेशन भी किया था। बीसीसीआई ने आगे कहा कि इस मुद्दे को तूल देने की जरूरत नहीं है। ऋषभ पंत के फैन को गले लगाने के सवाल पर बीसीसीआई ने कहा कि खुद फैन ने माना है कि यह सब उसने एक्साइटमेंट में आकर किया था। पंत ने खुद से उसे गले नहीं लगाया था।
पश्चिम बंगाल में इसी साल अप्रैल-मई के महीने में चुनाव होने की संभावना है। उससे पले सियासी उठापटक जारी है। हाल ही में तृणमूल कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थामने वाले सांसद सुनिल कुमार मोंडल को केंद्र सरकार ने वाई प्लस कैटेगरी की सुरक्षा मुहैया करायी है। गृह मंत्रालय ने इसकी मंजूरी दे दी है। सीआरपीएफ को उनकी सुरक्षा के लिए कहा गया है।
इससे पहले तृणमूल कांग्रेस छोड़कर बीजेपी का दामन थामने वाले शुभेंदु अधिकारी को जेड कैटेगरी की सुरक्षा दी गई थी। अधिकारी के साथ बीजेपी का दामन थामने वाले नेताओं में सुनील कुमार मोंडल भी शमिल थे। इन दोनों के अलावा इसी दिन ममता के कई विधायकों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूद्गी में भगवा झंडा थाम लिया।
इसके बाद टीएमसी को उस समय बड़ा झटका लगा, जब पार्टी के स्थापना दिवस पर कोंटाई नगर निकाय में पार्टी के अधिकतर पार्षद उसका साथ छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। 20 सदस्यों वाली कोंटाई नगरपालिका में 15 पार्षद शुक्रवार को भाजपा में शामिल हो गए। इसमें कोंटाई नगरपालिका के पूर्व प्रशासक सौमेन्दु अधिकारी भी शामिल हैं जो शुभेन्दु अधिकारी के भाई हैं।
शुभेंदु अधिकारी ममता बनर्जी सरकार में वरिष्ठ मंत्री थे लेकिन वह पिछले महीने बीजेपी में शामिल हो गए। सौमेन्दु को हाल ही में ममता बनर्जी सरकार ने नगर निकाय के प्रशासक पद से हटा दिया गया था। बता दें कि बंगाल में इस साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं।
पिछले महीने तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए शुभेन्दु अधिकारी ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से सौमेन्दु को हटाना बदले की भावना से उठाया गया कदम था। राज्य के पूर्व मंत्री ने यह भी कहा कि ममता बनर्जी सरकार नगर निगम चुनाव कराने में देरी कर रही है, क्योंकि वह अपनी आसन्न हार से भयभीत है। उन्होंने कहा, श्श्लोग भाजपा के पक्ष में मतदान करेंगे, चाहे वह निकाय चुनाव हों या विधानसभा चुनाव।


सौरव गांगुली की हालत स्थिर, राज्यपाल जगदीप धनखड़ और सीएम ममता बनर्जी अस्पताल पहुंचीं
नई दिल्ली, एजेंसी। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली को नए साल में स्वास्थ बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। जानकारी के मुताबिक गांगुली को कोलकाता के वुडलैंड अस्पताल में भर्ती कराया गया। सौरव गांगुली को सीने में दर्द की परेशानी हो रही थी जिसके बाद उन्हें भर्ती कराया गया। हालिया जानकारी के मुताबिक उनकी एंजियोप्लास्टी की जा चुकी है और उनकी हालत स्टेबल है। डक्टर के मुताबिक उन पर 24 घंटे निगरानी रखी जाएगी और वो पूरी तरह से होश में हैं। उनकी हार्ट में दो ब्लौकेज हैं जिसके लिए उनका इलाज किया जाएगा। ये जानकारी अस्पताल के डक्टर आफताब खान के द्वारा दी गई।
पूर्व भारतीय कप्तान को शुक्रवार रात 1 जनवरी को सीने में दर्द की शिकायत थी जिसके बाद उनको एहतियातन तुरंत ही पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिलहाल उनके स्वास्थ में सुधार है और डक्टर उनकी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। बीसीसीआइ अध्यक्ष और भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को शनिवार को हार्ट अटैक आया जिसके बाद उन्हें कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
खबरों के मुताबिक शाम में उनकी एंजियोप्लास्टी की गई। सौरव गांगुली को सीने में दर्द की परेशानी हो रही थी जिसके बाद उन्हें भर्ती कराया गया था। सौरव गांगुली से मिलने वेस्ट बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ अस्पताल पहुंचे और उनके मुलाकात की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!