स्कूलों को सुरक्षित तरीके से दोबारा खोलने की तैयारी

Spread the love

-देहरादून। भारत में शैक्षणिक संस्थानों के लिए फर्नीचर का निर्माण करने वाली सबसे बड़ी कंपनी, पॉपकॉर्न फर्नीचर ने ’कोविड-19 के बाद स्कूलों को सुरक्षित रूप से फिर से खोलने के विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया। डेढ़ घंटे लंबे इस वेबिनार के पैनल के सदस्यों में शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता क्षेत्रों की पांच जानी-मानी हस्तियां शामिल थी, जिसके बाद चर्चा में शामिल लोगों को बेहतर जानकारी प्रदान करने के लिए आधे घंटे के सवाल-जवाब सत्र का आयोजन किया गया। स्कूलों को दोबारा खोले जाने को सुविधाजनक बनाने में शैक्षणिक संस्थानों की मदद के लिए इसकी रूपरेखा और दिशा-निर्देशों पर चर्चा के उद्देश्य से इस सत्र का आयोजन किया गया था। इस सत्र में लॉकडाउन के बाद शिक्षा के मॉड्यूल में हुए बदलाव को शामिल किया गया, साथ ही बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए नए के साथ भविष्य में आगे बढ़ने के विषय पर चर्चा की गई। इस वेबिनार में कई स्कूलों के शिक्षकों, प्राचार्यों, स्कूल के मालिकों, स्कूल के ट्रस्टियों, सलाहकारों, छात्रों और मीडिया जगत के लोगों सहित 1000 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। पॉपकॉर्न फर्नीचर की संस्थापक एवं निदेशक, दीपिका गोयल ने इस वेबिनार की अध्यक्षता की। इस वेबिनार के पैनल के पांच प्रख्यात सदस्यों में पद्मश्री और पद्म भूषण से सम्मानित जाने-माने शिक्षाविद्, डॉ. श्यामा चोनाय पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन में हेल्थ प्रमोशन डिवीजन की निदेशक, डॉ. मोनिका अरोड़ा, अपोलो हॉस्पिटल में पीडीऐट्रिक्स एवं नियोनेटोलॉजी की वरिष्ठ सलाहकार, डॉ. विद्या गुप्ता, जीडी गोयनका समूह की निदेशक, नुपुर गोयनका और सुमित नादगीर, सीईओ, हाई-केयर एमडी, ट्रूनॉर्थ शामिल थे। पॉपकॉर्न फर्नीचर की संस्थापक एवं निदेशक दीपिका गोयल ने कहा, ¡एक कंपनी के तौर पर पॉपकॉर्न ने देश-विदेश के 8000 से अधिक स्कूलों में अपने फर्नीचरों की बिक्री की है और बच्चों की सुरक्षा हमेशा से हमारी प्राथमिकता रही है। हम स्कूलों के दोबारा खुलने के बाद बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपनी ओर से हर संभव प्रयास करना चाहते हैं। पद्मश्री और पद्म भूषण से सम्मानित जाने-माने शिक्षाविद्, डॉ. श्यामा चोना, ने कहा, ¡मैं अब तक कई वेबिनार में भाग ले चुका हूं, लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि यह कई मायनों में अलग था और मेरे लिए यह अब तक का सबसे असाधारण वेबिनार था। पॉपकॉर्न फर्नीचर ने शानदार प्रयास किया जिसमें हजारों प्रतिभागियों एवं विभिन्न क्षेत्रों की दिग्गज हस्तियों ने पैनल के सदस्यों के रूप में भाग लिया, और यही बात इस वेबिनार को दूसरों से अलग करती है। जीडी गोयनका समूह की निदेशक, नूपुर गोयनका ने कहा, ¡स्कूलों को फिर से खोलने का काम सभी प्रमुख हितधारकों, स्कूल मैनेजमेंट, अभिभावकों और छात्रों के आपसी सहयोग और बेहतर तालमेल के बाद ही संभव होगा। विंस्टन चर्चिल ने कहा था कि संकट की घड़ी को एक अवसर की तरह देखें और इस समय को व्यर्थ ना गवाएं। पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन में हेल्थ प्रमोशन डिवीजन की निदेशक, डॉ. मोनिका अरोड़ा, ने कहा, ¡वेबिनार के पैनल और इस में भाग लेने वाले लोगों में विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल थे, और यह बात मुझे सबसे अच्छी लगी। इस वेबिनार ने स्कूलों को सुरक्षित तरीके से दोबारा खोलने के लिए सभी प्रासंगिक स्रोतों को एकजुट किया, क्योंकि हम सभी बच्चों की सुरक्षा के बारे में समान रूप से चिंतित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!