एसडीएम ने किया गवालगढ़ व तेली स्रोत गदेरे का निरीक्षण

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। उपजिलाधिकारी योगेश मेहरा ने भाबर क्षेत्र के तेली स्रोत, धोबी स्रोत, शीतलपुर गांव, सिगड्डी स्रोत और गवालगढ़ गदेरे का निरीक्षण कर बारिश के कारण हुए नुकसान का जायजा लिया। एसडीएम ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। साथ ही ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि शीघ्र ही चैनलाइजेशन का कार्य किया जायेगा।
गत रविवार को सुबह मूसलाधार बारिश से गवालगढ़ गदेरे के उफान पर आने से जहां सत्तीचौड-निंबूचौड़ सम्पर्क मार्ग बह गया था। वहीं तेली स्रोत के उफनाने से रामदयालपुर, श्रीरामपुर, भूदेवपुर, दलीपपुर, शीतलपुर, अम्बेडकर नगर लोकमणिपुर में लोगों के घरों में पानी और मलबा घुस गया था। वहीं गदेरे का पानी और मलबा काश्तकारों के खेत में घुस गया था। जिससे धान की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई थी। काश्तकारों ने तीन-चार दिन पहले की धान की रोपाई की थी। तेलीस्रोत गदेरे के उफनाने से उनकी सारी मेहनत पानी में बह गई। स्थानीय लोगों का आरोप है कि गवालगढ़ व तेली स्रोत गदेरे में चैनलाइजेशन कार्य के दौरान मानकों की अनदेखी की गई। प्रशासन ने बाढ़ सुरक्षा के लिए गवालगढ़ नाले में जून माह में रिवर ट्रेनिंग के तहत सफाई का कार्य किया था, लेकिन पट्टा धारकों के द्वारा मानकों को ताक में रखकर नाले की सफाई करवाई गई, जिसके कारण मूसलाधार बारिश में नाले में आए पानी में सत्तीचौड-निंबूचौड़ सम्पर्क मार्ग बह गया। वहीं तेली स्रोत गदेरे का पानी और मलबा लोगों के घरों और खेतों में घुस गया। जिस कारण लोगों को काफी नुकसान हुआ है। लोगों ने बताया कि नाले में आए पानी के कारण हमारे खेत और सड़क बह गई। ऐसे में उन्हें डर सताने लगा कि कहीं नाले में फिर से पानी आया तो उन्हें काफी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। सोमवार को उपजिलाधिकारी योगेश मेहरा ने प्रभारी तहसीलदार विकास अवस्थी, नायाब तहसीलदार आरपी पंत, सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियन्ता सुबोध मैठाणी, अवर अभियन्ता कौशक अली समेत अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ तेली स्रोत, धोबी स्रोत, शीतलपुर गांव, सिगड्डी स्रोत और गवालगढ़ गदेरे का निरीक्षण किया। एसडीएम ने सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियन्ता सुबोध मैठाणी, अवर अभियन्ता कौशक अली को उक्त गदेरों में अस्थाई जाल बनाने को कहा। ताकि गदेरे के पानी को आवासीय बस्तियों में आने से रोका जा सके। इस मौके पर पार्षद राकेश बिष्ट समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!