टिहरी के कोविड केयर सेंटर से 20 कारोना पाजिटिव भागे

Spread the love

देहरादून। टिहरी जिले के नरेंद्रनगर के राजकीय संयुक्त सुमन चिकित्सालय (डीसीएचसी) में बनाये गये कोविड केयर सेंटर से बीते रोज को 20 कारोना पाजिटिव भाग निकले। जिसका पता अस्पताल कर्मियों को देर रात को चला। जब 20 कोरोना पाजिटिव मरीज कम निकले। घटना की सूचना के तुरंत बाद सीएमओ डा सुमन आर्य व एसडीएम युक्ता मिश्र ने मौके का मुआयना किया। फरार कोरोना मरीजों के खिलाफ नरेंद्रनगर अस्पताल के सीएमएस ने तहरीर दी है। जिस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने की कार्यवाही शुरू कर दी है। घटना के बाद अस्पताल की में पुलिस बल भी सुरक्षा को देखते हुये तैनात किया गया है। बीती 17 अप्रैल को नरेंद्र नगर के डीसीएचसी में 38 कारोना पेशेंट मरीजों में से 20 मरीज दोहपर में भाग निकले। जिसका जिला अस्पताल प्रबंधन को पत नहीं चला पाया। भागने वाले मरीजों में उत्तराखंड के 2, राजस्थान के 7, उत्तर प्रदेश के 4, हरियाणा के 3 व उड़ीसा 4 से सम्बंधित थे। रात को जब अस्पताल कर्मी खाना देने कोविड सेंटर में गये तो 20 मरीज कम निकले। जिससे अस्पताल में हड़कंप मच गया। जिसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी। जिसके बाद रात को मौके का एसडीएम व सीएमओ ने मुआयना किया।
वाहनों को इधर-उधर दौड़ाकर इन्हें ढुंढने का हरिद्वार तक प्रयास किया गया। मोबाईल नंबर भी ट्रेस करने का प्रयास किया, लेकिन किसी का कुछ भी पता नहीं चला। मामले में सीएमओ डा सुमन आर्य ने बताया फरार मरीजों की प्राथमिकी के लिए तहरीर नरेंद्रनगर थाने का दे दी गई है। जिस पर कार्यवाही की जा रही है। एसआई शांति प्रसाद डिमरी ने बताया की अस्पताल के सीएमएस की ओर से तहरीर मिल गई। जिस पर कार्यवाही की जा रही हैआपदा प्रबंधन तथा महामारी एक्ट । इस घटना के बाद कोविड केयर सेंटर की सुरक्षा बढ़ाते हुये पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।
मौके का कोरोना मरीजों ने उठाया फायदा
सीएमओ डॉ. सुमन आर्य ने बताया कि बीती 17 अप्रैल को कोविड से एक महिला की मौत हुई थी। जिसकी बाडी दोहपर में लगभग दो बजे के निकट परिजनों को सुपुर्द करने का काम नरेंद्रनगर डीसीएचसी में किया जा रहा था। उसी दौरान नये 6 कोरोना पेशेंट भी भर्ती होने आये थे। उस दौरान अस्पताल में भीड़भाड़ के साथ ही अफरातफरी का माहौल था। इस बीच मौके का फायदा उठाकर 20 कोरोना मरीज फरार हो गये। कोविड केयर सेंटर के भीतर बिना वजह आवाजाही न होने के चलते फरार मरीजों की जानकारी किसी को भी नहीं रही। रात को जब स्टाफ खाना देने मरीजों को गया, तो पता चला की 20 कोरोना मरीज फरार हो गये हैं। जिन्हें ढूंढने का भी प्रयास किया गया, लेकिन कुछ पता नहीं चला। मामले में स्थानीय थाने में तहरीर दी गई है। सीएमओ ने कहा कि उन्हें कोरोना मरीजों से ऐसी उम्मीद नहीं थी। पहली बार कोरोना मरीजों की ऐसी हरकत सामने आई है।
चौकीदारों को नहीं चला फरार होने का पता
20 कोरोना मरीजों के फरार होने की हवा अस्पताल के चौकीदारों को नहीं लगी। इससे अस्पताल की लापरवाही खुलकर सामने आई है। भले ही स्वास्थ्य अधिकारी फरार होने की घटना के दौरान अफरा-तफरी की स्थिति होना बता रहे हैं। 20 मरीजों के फरार होने के बाद अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में पुलिस तैनात कर दी गई है, ताकि आगे ऐसी घटना न हो पाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!