छात्रों के हित में लिया निर्णय

Spread the love

नई टिहरी। श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय मुख्यालय में चतुर्थ परीक्षा समिति की आनलाइन बैठक कुलपति डा पीपी ध्यानी की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। समिति ने व्यापक छात्र हित में निर्णय लिया कि कोविड-19 महामारी के कारण स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर की विषम सेमेस्टरों की परीक्षा एवं अंक सुधार की परीक्षायें सम्पन्न न होने के कारण महाविद्यालय व संस्थान स्तर पर एसाइन्मेन्ट के माध्यम से परीक्षा सम्पादित की जायेगी। बैठक में निर्णय लेते हुये कहा गया कि मिड सम सैमेस्टरों के छात्र-छात्राओं को गत वर्ष की भांति प्रोन्नत अथवा महाविद्यालय व संस्थानों के स्तर पर एसाइन्मेंन्ट के आधार पर परीक्षा सम्पन्न की जायेगी। साथ ही अंकसुधार के लिए जिन छात्र-छात्राओं ने परीक्षा आवेदन किये हैं, उनकी परीक्षाऐं भी महाविद्यालय व संस्थान स्तर पर एसाइन्मेन्ट के माध्यम से आयोजित की जायेंगी। महाविद्यालयों व संस्थानों की ली गयी परीक्षाओं के अंक विश्वविद्यालय के पोर्टल में आनलाईन प्रेषित किये जायेंगे। समिति ने सर्व सम्मति से निर्णय लिया कि वार्षिक पद्धति के प्रथम व अन्तिम वर्ष, स्नातक एवं स्नातकोत्तर की अन्तिम सैमेस्टर तथा व्यावसायिक डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के अन्तिम सैमेस्टर की परीक्षायें माह अगस्त-सितंबर, 2021 में आयोजित की जायेंगी। इसके साथ ही वार्षिक पद्धति के स्नातक द्वितीय वर्ष के छात्र-छात्राओं को उनके प्रथम वर्ष के प्राप्तांकों के आधार पर प्रोन्नत किया जायेगा। आनलाईन बैठक में परीक्षा नियंत्रक एमएस रावत, गोपेश्वर विश्वविद्यालय परिसर के प्राचार्य प्रो आरके गुप्ता, पीजी कालेज कर्णप्रणग के जगदीश प्रसाद, पीजी कालेज डोईवाला के प्राचार्य प्रो डीसी नैनवाल, बड़कोट डिग्री कालेज के प्राचार्य प्रो एके तिवारी, डा संदीप विजय, डा संध्या, डा सुषमा गुप्ता, डा भरत सिंह, डा बीसी शाह, नमिता सिंह, डा बीएल आर्य, डा हेमंत विष्ट आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!