गढ़वाली गीत, थड़िया, चौफला की प्रस्तुति ने मोहा मन | Dainik Jayant

गढ़वाली गीत, थड़िया, चौफला की प्रस्तुति ने मोहा मन

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

चौबट्टाखाल के प्रखंड पोखड़ा के गवाणी में आयोजित किया गया कार्यक्रम
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार : चौबट्टाखाल के प्रखंड़ पोखड़ा के अंतर्गत गवाणी में उत्तराखंड लोक भाषा साहित्य मंच व हंस फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में फीलगुड महोत्सव का आयोजन किया गया। महोत्सव में गढ़वाली कवि गोष्ठी के अलावा महिला दल ने गढ़वाली गीत, थड़िया, चौंफला की शानदार प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम में जगमोहन रावत की गढ़वाली में लिखी पुस्तक दुणत्यली कु कन्यादान का विमोचन भी किया।
कार्यक्रम का शुभारंभ समाज सेवी डा. जयंत नवानी, पूर्व प्रमुख सुरेंद्र सिंह रावत, महाविद्यालय चौबट्टाखाल के प्राचार्य डा. डीएस नेगी व सुशीला देवी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। डा. जयंत नवानी ने कहा कि फीलगुड मातृ भूमि के प्रति एक समर्पित संगठन है। उत्तराखंड के कृषि बागवानी, शिक्षा सहित समाज के हित में निरंतर कार्य कर रहा है। संगठन की तरफ से मातृ भाषा सरंक्षण के लिए कार्य करने का संकल्प लिया है। फील गुड महोत्सव में गढ़वाली भाषा में आयोजित कवि गोष्ठी में कवियों ने पहाड़ की समस्याओं को उठाया। महिला मंगल दल गवांणी, किमगडी, चोपडा, चरगाड की महिला मंगलदलों ने थड़िया, चौंफला की प्रस्तुति देकर लोगों को झूमने के लिए मजबूर कर दिया। इस मौके पर जसवीर सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!