परिवहन मजदूर संघ ने निगम के निजीकरण का विरोध किया

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

चम्पावत। उत्तरांचल परिवहन मजदूर संघ ने निगम के निजीकरण का विरोध किया है। उन्होंने शाखा कार्यालय में बैठक आयोजित कर एक घंटे का सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया। जिसके बाद उन्होंने एआरएम के माध्यम से परिवहन मंत्री को ज्ञापन भेजा। सोमवार को शाखा कार्यालय में मजदूर संघ के अध्यक्ष कैलाश चंद्र के नेतृत्व में बैठक आयोजित कर एक घंटे का सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया। बैठक का संचालन शाखा मंत्री कुलदीप गुप्ता ने किया। मजदूर संघ के कर्मियों ने विभाग एवं कर्मचारी विरुद्घ नीतियों का पुरजोर विरोध किया। कर्मियों ने एआएम केएस राणा को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि निगम प्रबंधन परिवहन विभाग को निजीकरण करने, अनुबंधित बसें एंव उनके साथ चालक, परिचालक तथा कार्यालय में लिपिक पर उपनल के माध्यम से भर्ती करने की तैयारी कर रहा है। जिसका संगठन पुरजोर विरोध करता है। उन्होंने 15 वर्षों से संविदा में काम करने वाले कर्मियों का नियमितीकरण करने, मृतक आश्रितों को विभाग में नियुक्ति दिए जाने और अनुबंधित बसों के टेंडर प्रक्रिया को समाप्त करने की मांग रखी। कहा अगर जल्द मांग पूरी नहीं हुई तो सभी कर्मी उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। यहां क्षेत्रीय अध्यक्ष देवेंद्र कुमार, क्षेत्रीय मंत्री गौरव गुप्ता, दीप चंद्र शाह, रवि कुमार, मनीष कुमार, सुनील मिश्रा, मनीष कुमार, रमावती देवी, अंशुल गुप्ता, कुशल प्रजापति, सुमित पांडेय, शिवा, कमलेश कुमार, राकेश गुप्ता, मनीष गुप्ता, मदन राज, परवेज आलम, रवि शर्मा, हरिमोहन मिश्रा, अमित चंद, राजेंद्र सिंह, शहवाज अहमद, वसिम अहमद, ष्णा अधिकारी, रमेश रावत, सुमित पांडेय, पंकज चौबे, कमल किशोर, जसविर सिंह, अनिल सिंह, ष्णा सिंह, शहनवाज अहमद, दीपक सिंह, चतुर सिंह, ज्ञान सिंह आदि रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!