उत्तराखंड में प्रवासी कोरोना मरीजों का विस्फोट जारी, 69 और आए तो संख्या हुई 469

Spread the love

हॉट-स्पॉट की संख्या बढ़कर 19 पहुंची
संवाददाता, देहरादून। प्रदेश में प्रवासियों में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। बुधवार को प्रदेश में 69 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इन्हें मिलाकर प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 469 हो गई है। इनमें से 79 मरीज सही हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना जांच का दायरा बढ़ाने से लगातार संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है।
बुधवार को मिले मरीजों में देहरादून में चार, हरिद्वार में छह, पौड़ी गढ़वाल में 13 और टिहरी में 27, अल्मोड़ा में छह, ऊधमसिंह नगर में सात, नैनीताल में तीन और पिथौरागढ़ में तीन संक्रमित मिले हैं।
संदिग्धों की पहचान कर सभी को क्वारंटाइन किया जाएगा ताकि बढ़ते संक्रमण के ग्राफ पर रोक लगाई जा सके। संक्रमण के बढ़ते ग्राफ के मद्देनजर अब प्रशासन प्रवासियों पर पैनी नजर बनाए हुए रखा है। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि पॉजिटिव पाए गए सभी मरीज प्रवासी हैं और दूसरे राज्यों से लौटने के बाद से उन्हें क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया था।
उन्होंने बताया कि अब सभी मरीजों को इलाज के लिए अस्पतालों में भर्ती किया जा रहा है। अपर सचिव ने बताया कि बुधवार को राज्यभर से कुल 1017 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। इसमें से सबसे अधिक 191 देहरादून जिले से जबकि 185 हरिद्वार जिले से और 150 सैंपल नैनीताल जिले से जांच के लिए भेजे गए हैं। बागेश्वर जिले से बुधवार को एक भी सैंपल जांच के लिए नहीं भेजा गया।

राज्य में अब तक 18645 सैंपलों की ही हुई जांच
राज्य में अभी तक कुल 23975 सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। जिसमें से 18645 सैंपलों की रिपोर्ट आ चुकी है। उन्होंने बताया कि नैनीताल जिले में सबसे अधिक 135 मरीज हैं जबकि देहरादून 82 मरीजों के साथ दूसरे स्थान पर है। रुद्रप्रयाग में सबसे कम तीन मरीज हैं।
कोरोना से निपटने के लिए एक्सपर्ट ग्रुप तैयार
सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए एक्सपर्ट ग्रुप तैयार कर लिया है। यह सरकार को अहम सुझाव और सहयोग देगा। इसमें एम्स और आईएमए समेत राज्य के प्रमुख अस्पतालों के एक्सपर्ट शामिल हैं। स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी की ओर से मंगलवार देर शाम आदेश किए गए। यह ग्रुप एचएनबी मेडिकल विवि के कुलपति प्रोफेसर हेमचंद्रा की अध्यक्षता में गठित होगा।

राज्य में 21 हुई हॉट स्पॉट की संख्या
राज्य में मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से एक बार फिर हॉट स्पॉट बढ़ने लगे हैं। बुधवार को हॉट स्पॉट की संख्या बढ़कर 21 हो गई। इसमें से सबसे अधिक 13 हरिद्वार, चार देहरादून और चार यूएस नगर जिले में है।
अपर सचिव ने बताया कि क्वारंटाइन किए गए क्षेत्रों के अलावा जहां मरीज मिल रहे हैं ऐसे इलाकों को हॉट स्पॉट या कंटेनमेंट एरिया के रूप में चिह्नित किया जा रहा है। ताकि संक्रमण दूसरे व्यक्तियों तक पहुंचने से रोका जा सके।
तीन जिलों से एक भी सैंपल नहीं भेजा गया
मंगलवार को विभिन्न जिलों से 749 सैंपल जांच को भेजे गए। लेकिन, तीन जिलों से एक सैंपल तक नहीं गया। हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, बागेश्वर, उत्तरकाशी, चम्पावत से मंगलवार को एक भी सैंपल नहीं भेजा गया। पौड़ी से पांच सैंपल ही भेजे गए।

राज्य में कोरोना संक्रमण की दर वृद्धि बढ़ी
संवाददाता, देहरादून। प्रवासियों में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राज्य में संक्रमण दर भी बढ़ गई है। सोमवार तक संक्रमण दर 1.86% थी, जो बढ़कर दो से ऊपर पहुंच गई है।
राज्य में अभी तक कुल 23,076 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। 400 से अधिक लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके आधार पर राज्य की कुल संक्रमण दर 2.15 प्रतिशत के करीब है। हालांकि, यह आंकड़ा बाकी राज्यों की तुलना में कम है। राज्य में पहले भी संक्रमण दर दो से ऊपर गई थी। लेकिन, 42 दिनों से यह दर दो प्रतिशत से कम पर रही। अपर सचिव (स्वास्थ्य) युगल किशोर पंत ने बताया कि सरकार संक्रमण को रोकने के लिए पूरे प्रयास कर रही है।

7 दिन संस्थागत के बाद होम क्वारंटाइन 17 वर्षीय किशोरी की मौत
संवाददाता, चम्पावत। चंपावत जिले के पाटी ब्लॉक के लधियाघाटी स्थित बालातड़ी में सात दिन संस्थागत के बाद होम क्वारंटाइन में रह रही 17 वर्षीय एक किशोरी की मंगलवार रात अचानक मौत हो गई है।
स्वास्थ्य विभाग मृतका का कोरोना सैंपल लेने की तैयारी में जुट गया है। उसकी मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। वह लड़की कुछ समय पूर्व ही रुद्रपुर से लौटी थी।
गांव पहुंचने के बाद उसे स्कूल में सात दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया था। उसके बाद उसे होम क्वारंटाइन भेजा गया था। सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी ने बताया कि होम क्वारंटाइन में रह रही उस लड़की को खून की कमी थी।
उसे अचानक चक्कर आया और उसने दम तोड़ दिया। सीएमओ ने बताया कि मृतका का सेंपल लेने के लिए जिला अस्पताल से लैब तकनीशियन समेत डॉक्टरों की टीम गांव भेजी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!