वेब सीरीज तांडव के निर्माता निर्देशक के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। भाजपा युवा मोर्चा के विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक शांता बमराड़ा ने आरोप लगाते हुए कहा कि वेब सीरीज तांडव के निर्माता निर्देशक द्वारा किया गया कृत्य धार्मिक एवं जातिगत भावनाओं को ठेस पहुंचाने व भड़काने एवं शासकीय व्यवस्था को क्षति एवं अश्लीलता फैलाने वाला रहा है। उन्होंने कोतवाली कोटद्वार में तहरीर दर्ज कराकर वेब सीरीज तांडव के निर्माता निर्देशक सहित उक्त वेब सीरीज में सम्मिलित दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध हिन्दू देवी-देवताओं पर अश्लील चित्रण करने, भावनाएं आहत करने आदि कुकृत्यों के लिए कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है।
भाजपा युवा मोर्चा के विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक शांता बमराड़ा ने कोतवाली में तहरीर दर्ज कराते हुए कहा कि विगत 17 जनवरी को टिवटर हैण्डल एवं सोशल मीडिया पर सोशियल प्लेटफार्म अमेजन प्राईम वीडियों पर 16 जनवरी को रिलीज वेब सीरीज ताण्डव के विरोध में काफी आक्रोश भरे लेख एवं कमेंट आ रहे है। उक्त वेब सीरीज की फुटेज भी लोग पोस्ट व शेयर कर रहे है। उन्होंने सच्चाई जानने के उद्देश्य से अमेजन प्राईज वीडियो पर उक्त वेब सीरीज को देखा तो पाया कि वेब सीरीज के प्रथम एपिसोड के सत्रहवें मिनट में हिन्दू देवी-देवताओं को बेहद विदूप ढंग से रूप धारण का धर्म से जोड़ कर अमर्यादित तरीके से देवी-देवताओं को बालते हुए दिखाया गया है। निम्न स्तरीय भाषा का प्रयोग किया गया है जो धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाला एवं आघात पहुंचाने वाला है। उक्त ऐपिसोड के 22वें मिनट में जातिगत विद्वेष फैलाने वाले संवाद है। ऐसे ही संवाद और भी ऐपिसोड में मौजूद है। उक्त वेब सीरीज में भारत के प्रधानमंत्री जैसे गरिमामय पद को ग्रहण करने वाले व्यक्ति का चित्रण अत्यंत अशोभनीय ढंग से किया गया है। वेब सीरीज में जातियों को छोटा-बड़ा दिखाकर विभक्त करने वाले तथा महिलाओं का अपमान करने वाले दृश्य है तथा वेब सीरीज की मंशा एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को भड़का कर वर्ग विद्वेष फैलाने की है। इस वेब सीरीज का सोशल मीडिया के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार हो रहा है, जो समाज के लिए सर्वथा हानिकारक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!