आजादी के बाद पहली बार बदले स्वरूप में दिखेगा लालकिला

Spread the love

नई दिल्ली एजेंसी। लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए राजनयिकों, अधिकारियों और मीडियाकर्मियों सहित चार हजार से अधिक लोगों को आमंत्रित किया गया है और इसे कार्यक्रम की गरिमा और कोविड-19 प्रोटोकल के संतुलन को ध्यान में रखते हुए आयोजित किया जा रहा है। यह जानकारी शुक्रवार को रक्षा मंत्रालय ने दी।
इसने कहा कि दो अतिथियों के बीच दो गज की दूरी के दिशानिर्देशों के तहत बैठने की व्यवस्था की गई है। इसने कहा कि सलामी गारद पेश करने वाले सदस्यों को पृथक-वास में रखा गया है। मंत्रालय ने कहा, सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एनसीसी (राष्ट्रीय कैडेट कोर) के कैडेटों को कार्यक्रम देखने के लिए आमंत्रित किया गया है (छोटे स्कूली बच्चों के स्थान पर) और वे ज्ञानपथ पर बैठेंगे।
सभी आमंत्रित लोगों से आग्रह किया गया है कि मास्क पहनें। इसने कहा कि स्थल पर लोगों को वितरित करने के लिए मास्क भी तैयार रखे गए हैं। मंत्रालय ने कहा, इसी तरह पूर्व निर्धारित स्थानों पर हैंड सेनेटाइजर उपलब्ध होंगे। आमंत्रित लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए महत्वपूर्ण स्थानों पर बोर्ड लगाए गए हैं।
इसने कहा कि लोगों की निर्बाध आवाजाही बनाए रखने और भीड़भाड़ से बचने के लिए बैठने के स्थानों और चलने के स्थानों पर लकड़ी की फ्लोरिंग की गई है और दरियां बिछाई गई हैं। इसने कहा कि कतार में लगने से बचने के लिए पर्याप्त चौड़ाई के अतिरिक्त दरवाजे लगाए गए हैं जो मेटल डिटेक्टर से लैस होंगे।
सभी प्रवेश बिंदुओं पर आमंत्रित लोगों के लिए थर्मल स्क्रीनिंग की योजना है। इसने कहा कि लाल किले के अंदर और बाहर नियमित तौर पर सघन सेनेटाइजेशन किया जा रहा है। मंत्रालय ने बताया कि केवल आमंत्रित लोग ही कार्यक्रम में हिस्सा ले सकेंगे और जिन लोगों के पास औपचारिक आमंत्रण नहीं है उन्हें कार्यक्रम स्थल पर नहीं आना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!