बारिश ने खोली नगर निगम के दावों की पोल, सड़कों और गलियों में भरा पानी, पिछले कई सालों से बनी हुई जलभराव की समस्या 

Spread the love
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। रविवार को हुई बारिश ने कोटद्वार शहर में नगर निगम के पुख्ता प्रबंधों के दावों की पोल खोल दी है। कोटद्वार शहर के मुख्य बाजार और अधिकतर कॉलोनियां जल भराव के चलते लाबलब हो गई। इससे शहरवासियों को परेशानी हो रही है। खासतौर पर कामकाजी लोगों को इससे दो-चार होना पड़ रहा है। वहीं बारिश से पिछले एक सप्ताह से हो रही गर्मी से राहत मिली है।
रविवार सुबह आठ बजे के करीब तेज बारिश शुरू हुई, जो रूक-रूक कर दिन भर होती रही। झमाझम बारिश से बदरीनाथ मार्ग, झण्डाचौक, आमपड़ाव, पटेल मार्ग, स्टेशन रोड़, मालगोदाम रोड़, गाड़ीघाट, काशीरामपुर तल्ला, गोविन्दनगर, देवीरोड़, सिताबपुर, पदमपुर, मानपुर सहित अन्य स्थानों में जलभराव के चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। मोहल्लों में पानी घुसने से लोग नगर निगम को कोस रहे हैं। रविवार की बारिश ने नगर निगम की व्यवस्थाओं की कलई खोल दी है। मौसम वैज्ञानिकों ने आने वाले दिनों में और बारिश होने की संभावना जताई है। ऐसे में लोगों की दिक्कतें और बढ़ सकती हैं। हालांकि, रविवार दोपहर को बारिश रुकने से लोगों ने कुछ राहत की सांस जरूर ली। शहर में रविवार को हुई तेज बारिश से शहर के कई इलाके जलमग्न हो गए। मुख्य मार्गों से लेकर गली-मोहल्लों में जलभराव का संकट इस कदर था कि करीब दो फीट तक पानी भर गया। जलभराव का सबसे बुरा हाल तो शहर के निचले इलाकों में रहा। जलभराव का आलम यह था कि सड़कों पर दो से तीन फुट पानी जमा हो गया।
दरअसल, बरसात को ध्यान में रखते हुए नगर निगम ने नालों और नालियों की सफाई के अलावा वाटर लॉगिंग प्रभावित क्षेत्रों से पानी की निकासी के पुख्ता इंतजाम करने का दावा किया था। लेकिन रविवार को ही मूसलाधार बारिश ने निगम के सारे दावों की पोल खोल कर रख दी। शहर में कूड़े से भरी नालियों का कचरा सड़क पर बहने लगा।
पिछले कई सालों से बनी हुई जलभराव की समस्या 
कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के बदरीनाथ मार्ग, झण्डाचौक, आमपड़ाव, पटेल मार्ग, स्टेशन रोड़, मालगोदाम रोड़, गाड़ीघाट, काशीरामपुर तल्ला, गोविन्दनगर, देवीरोड़, सिताबपुर, पदमपुर, मानपुर सहित अन्य स्थानों में पिछले कई सालों से जलभराव की समस्या बनी हुई है। नालियों में गंदगी भरी होने के कारण बारिश होने पर नालियों की सारी गंदगी सड़क पर बहने लगती है। जिससे लोगों को आने जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं। स्थानीय निवासी विनय ने बताया कि वे इस समस्या के साथ पिछले कई सालों से जूझ रहे है। नगर पालिका से नगर निगम बन गया, लेकिन हालात नहीं बदल रहे। उन्होंने कहा कि बारिश होने पर झण्डाचौक पर तो पानी भरना आम बात हो गई है। उन्होंने कहा कि जल भराव की समस्या के निस्तारण को लेकर कई बार नगर निगम के अधिकारियों से वार्ता की गई, लेकिन हालात जस के तस बनें हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!