बिजली लाइन पर चीड़ का पेड़ गिरने से तीन दिन से गांव में अंधेरा

Spread the love

बागेश्वर। बंगचूड़ी गांव की बिजली तीन दिन से गुल है। गुरुवार की रात को गांव की बिजली लाइन पर चीड़ का एक पेड़ गिर गया। इससे 35 परिवारों को अंधेरे में रात गुजारनी पड़ रही है। विभाग को सूचित करने के बाद भी लाइन की मरम्मत नहीं होने से लोगों में नाराजगी है। उन्होंने जल्द लाइन को सही कर आपूर्ति सुचारु करने की मांग की। गुरुवार की रात को कांडा क्षेत्र में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई।
इससे बंगचूड़ी गांव की बिजली लाइन पर एक पुराना विशाल चीड़ का पेड़ गिर गया। पेड़ गिरन से लाइन कई जगह से टूट गई है। तार टूटकर बिखर गए हैं। कई पोल भी टेड़े गए हैं। ग्राम प्रधान भूपेश सिंह ने बताया कि शुक्रवार की सुबह ही विभाग को बिजली लाइन टूटने की सूचना दे दी गई थी, लेकिन अब तक कोई देखने नहीं आया। उन्होंने बताया कि लाइन टूटने से कई स्थानों पर तार टूटकर गिरे हैं। जिससे ग्रामीणों को आने-जाने में परेशानी हो रही है। रात के समय बिजली नहीं होने से अंधेरे में रात गुजारनी पड़ रही है। लोगों के रोजमर्रा के कामकाज पर भी असर पड़ रहा है। कहा कि अभी मानसून शुरू नहीं हुआ और हालात बिगड़ने लगे हैं। विभाग भी उनकी लगातार अनदेखी कर रहा है। कहा कि अगर जल्द ही गांव की बिजली व्यवस्था सुचारु नहीं हुई तो ग्रामीणों को आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा।इनसेट:बंगचूड़ी गांव की क्षतिग्रस्त लाइन की मरम्मत के लिए जेई को निर्देश दे दिए हैं। खराब मौसम के कारण कर्मचारियों को परेशानी हो रही थी। जल्द ही लाइन को सही कर बिजली आपूर्ति सुचारू करा दी जाएगी। भाष्कर पांडेय, ईई ऊर्जा निगम।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!