चमोली जिले में 10 स्वास्थ्य केन्द्रों पर किया कोविड वैक्सीनेशन का पूर्वाभ्यास

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
चमोली। जिला अस्पताल गोपेश्वर सहित जिले के 10 स्वास्थ्य केन्द्रों में शुक्रवार को कोविड वैक्सीनेशन का ड्राई रन (पूर्वाभ्यास) किया गया। जिसमें कोल्डचेन की व्यवस्थाओं, कोल्डचेन प्वाइंट से बूथ तक वैक्सीन पहुंचाने, टीकाकरण, निगरानी कक्ष, प्रतीक्षा कक्ष की व्यवस्थाओं को परखा गया।
कोविड वैक्सीनेशन पूर्वाभ्यास के लिए शासन की गाइड लाइन के अनुसार जिला प्रशासन ने जोनल मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्टे्रट, पर्यवेक्षक तथा हेल्थ वर्कस की पर्याप्त संख्या में तैनाती करते हुए वैक्सीनेशन की पूरी व्यवस्था की थी। सभी 10 केन्द्रों पर वैक्सीनेशन की पूरी प्रक्रिया अपनाई गई। जिसमें 226 हेल्थ वर्कर को वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा गया था। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया के नेतृत्व में ड्राई रन पूरी तरह सफल रहा। कोविड वैक्सीनेशन ड्राई रन (पूर्वाभ्यास) का निरीक्षण करने के लिए जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दशोली पहुंची। उन्होंने वैक्सनेशन बूथ पर चल रहे रिहर्सल का बारीकी से जायजा लिया। जिले में चिन्हित 10 स्वास्थ्य केन्द्रों पर सुबह ठीक 10 बजे पूर्वाभ्यास शुरू हुआ। वैक्सीनेशन लगाने के लिए जिन वालंटियर्स को बुलाया गया था। उन्हें आईडी देखने के बाद वैक्सीनेशन कक्ष में प्रवेश दिया गया। यहां मेडिकल टीम ने सबसे पहले वैक्सीनेशन के संबध में जानकारी दी। इसके बाद वैक्सीनेशन कक्ष में टीका लगाने का अभ्यास किया। इस दौरान शारीरिक दूरी का भी पूरी तरह से ख्याल रखा गया। वैक्सीनेशन लगने के बाद रिएक्शन होने की भी मॉकड्रिल हुई। जिसमें 14 हेल्थ वर्कर को प्रतिकूल असर होना दिखाया गया। बूथ पर एंबुलेंस बुला रिएक्शन होने पर व्यक्ति को हायर सेंटर भेजा गया। वैक्सीनेशन के पूर्वाभ्यास के दौरान एक केन्द्र पर 25 लोगों को चुना गया था। प्रक्रिया के लिए एएनएम के पास पहले वैक्सीनेशन लगवाने वालों की सूची पहुंची। इसके बाद एक-एक करके लोगों को ट्रायल के लिए भेजा गया। आधार कार्ड से पहचान कर सभी को ड्राइ रन के रूप में सीरिंज लगाई गई। वैक्सीनेशन प्रक्रिया पूरी होने पर उन्हें केंद्र पर ही बनाए गए निगरानी कक्ष में आधा घंटा निगरानी में रखा गया। पूर्वाभ्यास की निगरानी के लिए सभी केन्द्रों पर पर्यवेक्षक की तैनाती की गई थी जो इस पूरी प्रक्रिया का पर्यवेक्षण कर नोडल अधिकारी को इसकी नियमित रिपोर्ट दे रहे थे। सभी खंड विकास अधिकारियों, तहसीलदार को इस प्रक्रिया में सेक्टर मजिस्ट्रेट तथा एसडीएम को जोनल मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात किया गया था। जिले के सभी 10 केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन का पूर्वाभ्यास सफल रहा। इस दौरान सीएमओ डॉ. जीएस राणा, एसीएमओ डॉ0 एमएस खाती, एसीएमओ डॉ0 उमा रावत, स्वास्थ्यकर्मी विपिन मालगुडी, डॉ0 रचना, महेश देवराडी, सोभन सिंह नेगी, पीएम बोरा, आशीष सती आदि विभिन्न केन्द्रों पर मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!