कोरोना के खिलाफ आज से शुरू होगा दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। देश में शनिवार से कोरोना के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का आगाज होने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना की रोकथाम के लिए टीकाकरण अभियान का वीडियो कन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान होगा। यह अभियान देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक साथ शुरू होगा। इसके लिए कोविड वैक्सीन को केंद्रों पर पहुंचाने का काम लगभग पूरा हो गया है। यही नहीं जन भागीदारी सिद्घांत पर आधारित इस अभियान के लिए सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं।
इस बीच निर्वाचन आयोग ने भी इस अभियान पूरी मदद करने की बात कही है। आयोग बूथ स्तर पर लाभार्थियों की पहचान करने में सरकार की पूरी मदद करेगा। सूत्रों ने बताया कि बीते 31 दिसंबर को केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा को पत्र लिखकर बूथ स्तर पर 50 साल से अधिक उम्र के लोगों की पहचान करने में मदद करने की अपील की थी।
डाटा सुरक्षा के मुद्दे पर गृह सचिव ने निर्वाचन आयोग को आश्वस्त कराया है कि केवल टीकाकरण के लिए डाटा का इस्तेमाल किया जाएगा। सूत्रों का कहना है कि निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ अधिकारी केंद्रीय गृह मंत्रालय और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के नोडल अधिकारियों के लगातार संपर्क में रहेंगे ताकि लाभार्थियों की पहचान में आ रही समस्याओं का समाधान किया जा सके।
कोविड-19 टीकाकरण अभियान को लेकर कुछ निर्देश भी जारी किए गए हैं। इन दिशानिर्देशों के मुताबिक, लोकसभा और विधानसभा चुनावों की नवीनतम मतदाता सूची का इस्तेमाल 50 वर्ष से अधिक उम्र के प्राथमिकता वाले लोगों का पता लगाने में किया जाएगा। टीकाकरण के लाभार्थियों की पहचान के लिए मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट और पेंशन दस्तावेज सहित 12 पहचान पत्रों की दरकार होगी।
सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, सबसे पहले करीब एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर कोरोना के खिलाफ मोर्चा संभालने वाले दो करोड़ कर्मचारियों को टीका लगाया जाएगा। इसके बाद 50 साल से अधिक उम्र के लोगों और उन लोगों की बारी आएगी जो पहले से ही दूसरी बीमारियों से जूझ रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी पहले ही साफ कर चुके हैं कि स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मचारियों के टीकाकरण का खर्च केंद्र सरकार खुद उठाएगी।
3006 केंद्रों पर एक साथ शुरुआत
1- शनिवार को सुबह 10़30 बजे प्रधानमंत्री अभियान की शुरुआत करेंगे।
2- पहले दिन देश भर में 3006 केंद्रों पर एक साथ टीकाकरण शुरू होगा।
3- एक केंद्र में एक सत्र में लगभग 100 लोगों को ही टीका लगाया जाएगा।
4- 61 हजार से ज्यादा प्रोग्राम मैनेजर, दो लाख सहायक सदस्य रहेंगे मुस्घ्तैद।
़.़ताकि ना पड़े कोई खलल
शरारती तत्व इस महाभियान को चोट न पहुंचा पाएं इस मसले पर भी सरकार लगातार लोगों को जागरूक कर रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ड़ हर्षवर्धन ने गुरुवार को ट्वीट कर टीकाकरण से जुड़े भ्रमों को दूर करने की कोशिश की थी। उन्होंने कहा था कि कोरोना का टीका लेने के बाद आए हल्के बुखार को कोरोना का लक्षण नहीं समझना चाहिए।
कोरोना के खिलाफ निर्णायक मोड़ पर लड़ाई, सात दिनों में प्रति 10 लाख आबादी पर केवल 87 नए मामले और एक मौत
को-विन होगा बहुत मदद्गार
टीकाकरण अभियान को सुचारु रूप से चलाने और सारी व्यवस्थाओं पर आनलाइन नजर रखने के लिए सरकार ने को-विन एप विकसित किया है। इसके जरिए देश भर में वैक्सीन की उपलब्धता, भंडारण तापमान और लाभान्वितों की जानकारी रियल टाइम पर ली जा सकेगी। इसके अलावा 24 घंटे काम करने वाली 1075 नंबर की लाइन स्थापित की जा रही है। इस नंबर पर फोन करके कोरोना, वैक्सीन और को-विन साफ्टवेयर से जुड़े सवालों के जवाब जाने जा सकते हैं।

महाटीकाकरण : स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन बोले- कोविड-19 के अंत की शुरुआत होने जा रही
नई दिल्ली, एजेंसी। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए कल यानी शनिवार से शुरू हो रहे देशव्यापी टीकाकरण अभियान से पहले केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने शुक्रवार को कहा की यह कदम ‘‘संभवतया कोविड-19 के अंत की शुरुआत है।’’
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के 146वें स्थापना दिवस के अवसर पर यह बात कही। उन्होंने कहा कि यद्यपि टीकाकरण अभियान शुरू होने वाला है लेकिन लोगों को संक्रमण से बचाव के तरीकों में ढिलाई नहीं देनी चाहिए और नियमों का पालन करते रहना चाहिए।
वर्धन ने कहा,‘‘ कल एक अहम दिन है कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई का यह अंतिम चरण है। मैं तो कहता हूं कि यह संभवतया कोविड के अंत की शुरुआत है, जो कल से प्रारंभ होने जा रही है।’’
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 16जनवरी को वीडियो कन्फ्रेंस के माध्यम से टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे।इसे विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान कहा जा रहा है, जो पूरे देश में शुरू होने जा रहा है और इसके इसके लिए पूरी तैयारियां कर ली गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!