कोविड-19 : ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- वायरस का डेल्टा स्वरूप 40 प्रतिशत ज्यादा संक्रामक

Spread the love

लंदन, एजेंसी। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकक ने रविवार को कहा कि पहली बार भारत में सामने आया कोरोना वायरस का डेल्टा या बी1़617़2 स्वरूप अल्फा या तथाकथित केंट स्वरूप (वीओसी) से 40 प्रतिशत ज्यादा संक्रामक है। वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री ने कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में हालिया बढ़ोतरी के पीटे डेल्टा स्वरूप का प्रसार है और इसने 21 जून से निर्धारित अनलक योजना को और मुश्किल बना दिया है।
उन्होंने हालांकि यह भी बताया कि डेल्टा स्वरूप की वजह से अस्पताल में भर्ती अधिकतर लोगों को टीके नहीं लगे थे और श्बेहद कमश् लोगों को ही कोविड-19 टीकों की दोनों खुराक लगी थीं। मंत्री ने कहा कि यह उस वैज्ञानिक सलाह को परिलक्षित करती है कि चिंता के कारक डेल्टा स्वरूप के खिलाफ टीके की एक खुराक अल्फा स्वरूप जितनी प्रभावी नहीं है और दोनों खुराक लेने को ही बचाव हो सकता है।
हैनकक ने स्काई न्यूज को बताया कि इस आंकड़े के साथ कह सकते हैं कि यह स्वरूप करीब 40 प्रतिशत ज्यादा संक्रामक है, मेरे पास यही नवीनतम परामर्श है। इसका मतलब है कि डेल्टा स्वरूप के साथ वाले वायरस का प्रबंधन और मुश्किल है, लेकिन महत्वपूर्ण रूप से हम मानते हैं कि टीकों की दो खुराक लेने पर आपको इनसे भी उतनी ही सुरक्षा मिलेगी जितनी की पिछले स्वरूप से मिल रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!