मां यमुना रक्षक संघ ने की ऊर्जा सचिव से टेंडर घोटाले की जांच की मांग

Spread the love

विकासनगर। यूजेवीएनएल के तहत डाकपत्थर बैराज में दो वर्ष पूर्व कराये गये कार्यों के दोबारा टेंडर कराने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। मां यमुना रक्षक संघ ने ऊर्जा सचिव को शिकायती पत्र प्रेषित कर प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है। गुरुवार सुबह यमुना रक्षक संघ के पदाधिकारियों ने तहसील प्रशासन के माध्यम से ऊर्जा सचिव के नाम ज्ञापन प्रेषित किया। इसमें पदाधिकारियों ने बताया कि यूजेवीएनएल परियोजना जनपद अनुरक्षण की ओर से दो वर्ष पूर्व बैराज परिसर में गेट ग्लेसिश और डाउनस्ट्रीम आदि कार्य कराये गये थे। इतना ही नहीं, 365 दिन में निर्धारित इस कार्य को संबंधित ठेकेदार ने मात्र 21 दिन में पूरा कर दिया था। इसकी कई संगठनों ने ऊर्जा निगम सहित स्थानीय प्रशासन और प्रदेश सरकार से शिकायत भी की थी। लेकिन उसकी जांच के साथ कार्रवाई को अधर में छोड़ मात्र दो वर्ष बाद यूजेवीएनएल ने दोबारा उसी काम के टेंडर निकाल दिए हैं। आरोप है कि सरकारी धन को ठिकाने लगाने के साथ चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए किया जा रहा है। संघ पदाधिकारियों ने ऊर्जा सचिव से मांग पर संज्ञान लेते हुए पूर्व में किए गये कार्यों की जांच कराने के बाद ही दोबारा काम के टेंडर कराने की मांग की। कहा कि यदि, मांग की अनदेखी की गई् तो संघ पदाधिकारी उग्र आंदोलन से भी पीछे नहीं हटेंगे। ज्ञापन भेजने वालों में राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप द्विवेदी, अंकित चौधरी, कृष्णानंद जगूड़ी, विनोद कोठारी, सचिन, कामिल खान, अरविंद तोमर, शुभम वर्मा, पंजाब सिंह, समून चौधरी, मुमताज खान, अन्नू, कृष्ण कुमार, वाहिद कुरैशी आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!