देश में बनेगी नई संसद, टाटा ग्रुप 862 करोड़ में करेगी नए पार्लियामेंट हाउस का निर्माण

Spread the love

नई दिल्ली , एजेंसी। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने नए संसद भवन के निर्माण के लिए बोलियां लगाने को आमंत्रण दिया था। टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने 861़90 करोड़ रुपये जबकि लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड ने 865 करोड़ रुपए की बोली लगाई थी। सूत्रों के अनुसार, बोली प्रक्रिया में टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने बुधवार को बाजी मार ली। अब वह 861़90 करोड़ रुपये में नए संसद भवन का निर्माण करेगी।
उल्लेखनीय है कि नए संसद भवन के निर्माण के लिए उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लिमिघ्टेड समेत सात कंपनियों ने पात्रता पूर्व बालियां जमा की थीं। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के अनलाइन निविदा पोर्टल के अनुसार, इन कंपनियों में़.़ टाटा प्रोजेक्ट लि़, लार्सन एंड टूब्रो लि़, आईटीडी सीमेंटेशन इंडिया लि़, एनसीसी लि़, शपूरजी पलोनजी एंड कंपनी प्राइवेट लि़, उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लि़ और पीएसपी प्रोजेक्ट्स लि़ शामिल थीं।
बोली आमंत्रित करने वाले नोटिस में कहा गया था कि सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत मौजूदा संसद भवन के पास नई इमारत का निर्माण किया जाएगा। इसके 21 महीने में पूरा होने का अनुमान है। यही नहीं इस पर 889 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान लगाया गया था। केंद्र सरकार की प्रमुख निर्माण एजेंसी सीपीडब्ल्यूडी ने कहा था कि नई इमारत का निर्माण पार्लियामेंट हाउस एस्टेट की भूखंड संख्या 118 पर कराया जाएगा।
केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की ओर से कहा गया है कि परियोजना के पूरा होने तक मौजूदा संसद भवन में ही कामकाज होता रहेगा। माना जा रहा है कि अब संसद के मानसून सत्र के खत्घ्म होने के बाद नए भवन पर काम शुरू होगा। कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि नए भवन में सांसदों के बैठने के लिए 900 सीटें होंगी, जबकि संयुक्त सत्र में 1350 सांसदों के बैठने की व्यवस्था होगी। 2022 के जुलाई महीने में होने वाला मानसून सत्र नई संसद में आयोजित किए जाने की तैयारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!