जीएमओयू ने की बस सेवा शुरू, चार यात्री गये थलीसैंण

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। आखिरकार गढ़वाल मोटर्स ऑनर्स यूनियन लिमिटेड (जीएमओयूलि) ने करीब साढ़े तीन माह बाद बस सेवा शुरू कर दी है। बुधवार को जीएमओयू ने बैजरो थलीसैंण मार्ग पर बस सेवा का संचालन किया। हालांकि अभी यात्रियों की संख्या काफी कम है। कोरोना की महामारी को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण कारोबार ठप है। सभी बसें खड़ी थी।
ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री ने 22 मार्च को जनता कफ्यू का आह्वान किया था। 22 मार्च की सांय को प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 31 मार्च तक प्रदेश में लॉकडाउन घोषित कर दिया था। इसी दौरान 25 मार्च को केन्द्र सरकार ने 21 दिन का लॉकडाउन घोषित कर दिया था। इस तरह से 22 मार्च से जीएमओयू की बसों का संचालन पूरी तरह से ठप है। बस सेवा ठप होने से वाहन स्वामियों व चालक-परिचालकों की आय का साधन बंद हो गया। आय न होने से उन्हें भारी परेशानियों का सामाना करना पड़ा। कोरोना महामारी के बीच शासन ने 25 जून से 50 प्रतिशत यात्रियों के साथ बसों के संचालन की अनुमति दी थी, लेकिन जीएमओयू ने बस सेवा का संचालन नहीं किया। जीएमओयू ने परिवहन कार्यालय में 100 बसों को सरेण्डर भी कर दिया था। जीएमओयू सरकार से एक वर्ष का टैक्स माफ करने और वाहन स्वामियों, चालक व परिचालकों को आर्थिक पैकेज देने की मांग कर रहे थे, लेकिन सरकार की ओर से मात्र चालक-परिचालकों को एक बार ही एक-एक हजार रूपये की आर्थिक सहायता दी गई है।
जीएमओयू के अध्यक्ष जीत सिंह पटवाल ने बताया कि बुधवार को सुबह आठ बजे कोटद्वार से थलीसैंण के लिए बस रवाना की गई। बस में करीब चार यात्रियों ने सफर किया। हरिद्वार के लिए बस लगाई गइ थी, लेकिन सवारी न मिलने से बस सेवा का संचालन नहीं हो पाया। उन्होंने बताया कि गुरूवार को पौड़ी, हरिद्वार, चौबट्टाखाल, सैंधार आदि मार्गों पर बस सेवा शुरू की जायेगी। डेढ़ गुना किराया व पचास प्रतिशत सवारियों के साथ बस सेवा शुरू करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि सवारियों को देखते हुए अन्य रूटों पर भी बस चलाई जायेगी।

बॉक्स समाचार
बीरोंखाल व त्रिपालीसैंण बस सेवा नहीं हुई शुरू
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। बुधवार को बीरोंखाल और त्रिपालीसैंण के लिए रोडवेज बस का संचालन नहीं हो पाया। जहां बीरोंखाल के लिए सवारी न मिलने तो त्रिपालीसैंण रोड खराब होने के लिए बस सेवा शुरू नहीं हो पाई। हालांकि रोडवेज की देहरादून, हरिद्वार, श्रीनगर, रिखणीखाल, जमेली, धुमाकोट के लिए बस रवाना हुई। हालांकि इन रूटों पर अभी भी यात्रियों की संख्या काफी कम है।
गत मंगलवार को पांच दिन बाद लैंसडौन व जमेली के लिए बस सेवा शुरू हुई थी, लेकिन बुधवार को सवारी न मिलने के कारण लैंसडौन सेवा ठप रही। कोरोना महामारी के बीच शासन ने 25 जून से 50 प्रतिशत यात्रियों के साथ रोडवेज बसों के संचालन की अनुमति दी थी। परिवहन निगम के महत्वपूर्ण कोटद्वार डिपो से लैंसडौन, जमेली व झंडीचौड़ समेत अन्य मार्गों पर बसें संचालित करने का निर्णय लिया गया था। बुधवार को जमेली के लिए चार, झण्डीचौड़ के लिए तीन, हरिद्वार के लिए आठ, रिखणीखाल के लिए सात, धुमाकोट के लिए पांच, देहरादून के लिए दो बसों में 25 और श्रीनगर के लिए 18 यात्रियों ने सफर किया। उधर, एआरएम टीकाराम आदित्य ने बताया कि बुधवार को सवारी न मिलने से बीरोंखाल व रोड बाधित होने से त्रिपालीसैंण के लिए बस संचालित नहीं हो पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!