जीएमटी ने वाहन स्वामियों के लिये आर्थिक सहायता की मांग की

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि
कोटद्वार। गढ़वाल मोटर ट्रांसपोर्ट वर्कर्स यूनियन ने प्रदेश सरकार से वाहन स्वामियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के साथ ही खड़ी हो रखी गाड़ियों से टैक्स में राहत देने की मांग की है। यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है कि लॉकडाउन के कारण यातायात व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई है। आय के सभी साधन बंद हो गये है। सरकार को वाहन स्वामियों को तत्काल आर्थिक सहायता प्रदान करनी चाहिए।
सोमवार को जीएमटी भवन के सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए यूनियन के अध्यक्ष संदीप अग्रवाल ने कहा कि समस्त वाहन चालक-परिचालक, खलासी व मोटर मजदूर के अन्तर्गत यात्री वाहन, मालवाहक, टैक्सी चालक व ऑटो चालक जो कि लॉकडाउन के कारण बेरोजगार हो चुके है। यातायात व्यवस्था ठप हो जाने के कारण अपने व परिवार का भरण पोषण करने में असमर्थ है। कई बार शासन-प्रशासन से गुहार लगाने के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। शासन-प्रशासन की अनदेखी के कारण मानसिक तनाव में है। बैठक में अमरदीप रावत ने कहा कि वर्तमान संकट के समय में दिल्ली व बाहरी राज्यों से प्राइवेट गाड़ियों के माध्यम से 5 से 10 गुना किराया वसूल कर यात्रियों को गंतव्य स्थान तक पहुंचाया जा रहा है। उक्त गाड़ियों को किस आधार पर पास दिया जा रहा है। जबकि कोटद्वार से पौड़ी, श्रीनगर आदि स्थानों को जाने वाले यात्री कोटद्वार से साधारण किराये में उपलब्ध हो सकते है। इस प्रकार की व्यवस्था से वाहन स्वामियों व चालकों को दोहरा नुकसान होना स्वाभाविक है। बैठक में मनोज पटवाल, सुभाषचन्द्र, हीरामणि सेमवाल, सुरेन्द्र सिंह रावत, राकेश भट्ट, धीरज सिंह आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!