प्रदेश के पांच जिलों के लिए सरकार कुछ राहतों की घोषणा कर सकती

Spread the love

देहरादून । शासन की ओर से जो संकेत मिल रहे हें उनके मुताबिक आने वाले शुक्रवार से प्रदेश के पांच जिलों के लिए सरकार कुछ राहतों की घोषणा कर सकती है। सदन में नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश ने आज व्यापारियों के दोनों संगठनों देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल और प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों से मुलाकात के बाद बाजारों को खोलने के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक से फोन पर वार्ता की। दोनों नेताओं ने उन्हें इस मामले में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से बात करने का आश्वासन भी दिया।
इस बीच सूत्रों से खबर आ रही है कि कोरोना संक्रमण की घटती दर को देखते हुए सरकार इस शुक्रवार को प्रदेश के 5 जिलों के लिए कोरोना कर्फ्यू में कुछ राहतों का ऐलान कर सकती है। ऐसा माना जा रहा है कि जिन जिलों में कोरोना संक्रमण की दर कम है वहां शुक्रवार से छूट दे दी जाएगी। इसके बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि सबसे कम संक्रमण दर वाले जिलों के लिए कुछ राहतों की अधिसूचना जारी की जा सकती है। प्रदेश के इन 5 जिलों से अनलॉक की शुरुआत हो सकती है। खबर है कि हरिद्वार, देहरादून, बागेश्वर, चंपावत और उधम सिंह नगर जिलों को कर्फ्यू में रियायत मिल सकती है। वजह, इन 5 जिलों में एक्टिव केस लगातार घटे हैं और रिकवरी रेट लगातार बढ़ा है।
हरिद्वार में संक्रमण दर सबसे कम 2.91 फ़ीसद है। बागेश्वर में संक्रमण दर 3.99 फ़ीसद है। इसके अलावा चंपावत में 4.78 फ़ीसदी, उधम सिंह नगर में 5.13 फ़ीसदी और देहरादून में 5.35 फ़ीसदी संक्रमण दर रही। इन 5 जिलों की रिकवरी के मामले भी बाकी जिलों से स्थिति बेहतर है। वहीं पहाड़ी जिलों की बात करें तो यहां संक्रमण दर लगातार बढ़ी है। उत्तरकाशी में संक्रमण दर 5.83 फ़ीसदी, रुद्रप्रयाग में 8.36 फ़ीसदी, टिहरी में 8.58 फ़ीसदी, नैनीताल में 8.75 फ़ीसदी, पौड़ी में 10.54 फ़ीसदी, अल्मोड़ा में 10.33 फ़ीसदी, पिथौरागढ़ में 10. 26 फ़ीसदी, और चमोली में 10.19 फ़ीसदी रही है। कुल मिलाकर उत्तराखंड के 5 जिले देहरादून, हरिद्वार, बागेश्वर, चंपावत और उधम सिंह नगर जिलों में संक्रमण दर सबसे कम है। इन 5 दिनों में रिकवरी रेट भी सुधरा है। ऐसे में माना जा रहा है कि इन 5 जिलों को कर्फ्यू में रियायत मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!