तूफान से बोट संचालकों को भारी नुकसान

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

नई टिहरी। टिहरी की कोटी कालोनी झील में दोपहर बाद आये तूफान के कारण कई बोटें पलटने के कारण क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जिससे वोट संचालकों को खासा नुकसान पहुंचा है। बोट संचालकों ने प्रशासन से तूफान के कारण बोट संचालकों को हुए नुकसान का आंकलन क्षतिपूर्ति देने की मांग की है। लाक डाउन के बाद बोट संचालकों का कारोबार टिहरी झील में बमुश्किल ढर्रे पर लौट रहा था कि मंगलवार दोहपर बाद आये तूफान के कारण झील में खड़ी बोटें बुरी तरह से उलट-पलट होने लगी। तूफान ने ऐसा कहर बरपाया कि जेटी के साथ खड़ी बोटें भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुई हैं। बोट संचालक तूफान से हुये नुकसान से भारी सकते में आ गये हैं। बोट यूनियन के कुलदीप पंवार का कहना है कि झील में सौ से अधिक बोटों में से आधी से अधिक बोटें बुरी तरह से तूफान के कारण बर्बाद हो गई हैं। तूफान के कारण बोटें क्षतिग्रस्त होने से प्रभावित बोट संचालकों में प्रशांत रावत, प्रदीप भंडारी, कुलदीप पंवार, मनोज रावत, गंभीर नेगी, अनुज पंवार, बीरेंद्र नेगी आदि का कहना है कि झील में आये तूफान के कारण उनकी बोटों को भारी नुकसान पहुंचा है।
टाडा व स्थानीय प्रशासन से मांग की गई है कि तूफान के कारण बोटों को हुये नुकसान का आंकलन कर क्षतिपूर्ति की जाय। तूफान से प्रभावित बोट संचालकों का कहना है कि इस तूफान से उनके लाक डाउन के बाद ढर्रे पर आये कारोबार को बुरी तरह से प्रभावित किया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता शांति प्रसाद भट्ट का कहना है कि प्रदेश सरकार बोट संचालकों को हुये तूफाने से हुये नुकसार की भरपाई करें। बोट संचालकों को राहत की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!