उपचार के दौरान मासूम की मौत, परिजनों ने लगया डक्टर पर इलाज में देरी और लापरवाही बरतने का आरोप

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

ाषिकेश। सरकारी अस्पताल में उपचार के दौरान सात माह की बच्ची की मौत हो गई। परिजनों ने डक्टर पर इलाज में देरी और लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। इस मामले मेंाषिकेश कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज करा दी है। बच्ची की मौत से परिजनों में आक्रोश है। सरकारी अस्पताल में रोती बिलखती सीमा पत्नी राजू निवासी चंद्रेश्वरनगर ने बताया कि बीते मंगलवार की शाम उनकी सात माह की पुत्री को उल्टी और बुखार की शिकायत होने पर उसे लेकर सरकारी अस्पतालाषिकेश की इमरजेंसी में पहुंची। आरोप है कि इमरजेंसी में मौजूद डक्टर ने जांच के बगैर ही पीने की दवा थमा दी। कहा कि सुबह ओपीडी में आकर बच्चों के डक्टर को दिखा देना। बकौल सीमा आधी रात को बच्ची की तबीयत फिर बिगड़ गई। बुधवार सुबह करीब 7 बजे सरकारी अस्पताल पहुंचे। उस समय ओपीडी नहीं खुली थी। इमरजेंसी में गए तो वहां जवाब मिला कि आठ बजे तक बच्चों के डक्टर आ जाएंगे, उन्हें दिखाना थोड़ा इंतजार करो। बताया कि सुबह करीब 8रू15 बजे बच्चों के डक्टर आए बच्ची की हालत देखकर उसे इमरजेंसी लेकर आए। लेकिन उपचार के दौरान बच्ची ने दम तोड़ दिया। बच्ची की मौत से परिजनों में आक्रोश है। उन्होंने इलाज में देरी और लापरवाही का आरोप लगाते हुएाषिकेश कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज करायी है। कोतवाल रवि सैनी ने बताया कि तहरीर के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर ली है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!