डीएम ने दिए बीएलओ के माध्यम से हर परिवार तक आइवरमेक्टिन दवा पहुॅचाने के निर्देश

Spread the love

चमोली। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए हर परिवार को आइवरमेक्टिन दवा उपलब्ध कराई जा रही है। इसके लिए जिले में वृहद स्तर पर कार्ययोजना तैयार की गई है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने सभी संबधित अधिकारियों की बैठक लेते हुए बीएलओ के माध्यम से हर परिवार तक आइवरमेक्टिन दवा पहुॅचाने के निर्देश दिए है। अभी स्वास्थ्य टीमों के माध्यम से जहॉ भी सैंपल लिए जा रहे है वहां पर यह दवा दी जा रही है। जिलाधिकारी ने कहा कि राज्य स्तरीय क्लीनिकल तकनीकी समिति की संस्तुति के बाद संक्रमण के प्रभाव को नियंत्रित करने और इसके गंभीर रूप लेने से पहले हर परिवार में 10 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए तीन दिनों के लिए आइवरमेक्टिन दवा दी जानी है। जिसमें 10 से 15 वर्ष के बच्चों को 3 गोली तथा 15 से अधिक आयु वर्ग के लिए 6 गोली दी जा रही है।
जिलाधिकारी ने आइवरमेक्टिन दवा को एक अभियान के तहत शत प्रतिशत लोगों तक बांटने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ब्लाक स्तर पर स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से इसकी किट तैयार कराई जाए और स्वास्थ्य विभाग के अलावा बूथ लेवल ऑफिसर के माध्यम से जल्द से जल्द सभी लोगों तक दवा का वितरण सुनिश्चित किया जाए। जो लोग पिछले एक माह में आइवरमेक्टिन दवा ले चुके है तो वे बिना चिकित्सा परामर्श के यह दवा न ले। कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए उपलब्ध मेडिसिन एवं स्वास्थ्य उपकरणों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में पिछले एक सप्ताह में विभिन्न संस्थानों से 70 ऑक्सीजन सिलेण्डर व 68 कन्सेन्टेटर और प्राप्त हुए है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इनमें से कुछ ऑक्सीजन सिलेण्डर और कन्सेंटेटर जिला अस्पताल में रखते हुए बाकी सभी कोविड केयर सेंटर और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में वितरित किया जाए। उन्होंने बताया कि सभी आशा, एएनएम एवं ग्राम पंचायत स्तर पर पल्स आक्सीमीटर, थर्मोमीटर एवं अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराने के लिए खरीद भी कर ली गई है। उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों को योजनाबद्व तरीके से एक सप्ताह के भीतर सभी आशा, एएनएम और ग्राम पंचायतों को अतिरिक्त पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मोमीटर, पीपीई किट, फेस सील्ड, मास्क, सेनेटाइजर आदि सामग्री उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कहा कि कोविड ड्यूटी में लगे बीएलओ, आंगनबाडी कार्यकत्री एवं अन्य कार्मिकों को भी कोविड सुरक्षा किट दी जाए और बायोवेस्ट मेडिकल सामग्री का उचित निस्तारण कराना भी सुनिश्चित करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे, सीएमओ डा0 एमएस खाती, एसीएमओ डा0 उमा रावत, डीपीआरओ आरएस गुंजयाल, डीडीएमओ एनके जोशी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!