जंगल की आग से छह गोशाला खाक

Spread the love

अल्मोड़ा। गर्मी बढ़ने के साथ ही आग ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया है। जंगल की आग गुरुवार देर शाम ग्राम पंचायत कबडोली के ढकढकी गांव तक पहुंच गई। इससे आधे दर्जन गोशालाओं सहित ग्रामीणों की घास, लकड़ी जलकर राख हो गई। निकटवर्ती ग्राम पंचायत ऊंचावाहन व चौना के ग्रामीणों ने रात में किसी तरह आग पर काबू पाया। मासी चौकी पुलिस ने भी आग बुझाने में सहयोग दिया। गुरुवार देर शाम करीब छह बजे जंगल की आग गांव तक पहुंच गई। तेज हवा के चलते आग ने एकाएक विकराल रूप ले लिया। इससे आस-पास अफरा तफरी मच गई। गांव में कम परिवार होने से आग पर काबू पाना मुश्किल था। इसके बाद करीब 1 किलोमीटर की दूरी में रहने वाले ऊंचावाहन और चौना ग्राम पंचायतों के युवा ग्रामीणों ने ढकढकी पहुंचकर देर रात 11 बजे तक बामुश्किल आग पर काबू पाया। आग बुझाने के लिए मासी पुलिस चौकी प्रभारी सुनील धानिक भी पुलिसकर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने बताया कि आग के गांव की ओर बढ़ने से पूर्व ही मवेशियों को दूसरी जगह पहुंचा दिया गया था। आग से चार गोशाला जलकर राख हो गए। जबकि कुछ गोशाले आंशिक रूप से जले हैं। वहीं घास, लकड़ी के टाल आदि का भारी मात्रा में नुकसान हुआ है। ग्रामीणों ने रात 11 बजे तक तेज आग पर काबू पा लिया था। जबकि तड़के तीन बजे तक पूरी आग बुझाने में कामयाब हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!