कर्णप्रयाग-नैनीताल हाईवे के चौड़ीकरण की कवायद तेज

Spread the love

चमोली। नगर पालिका क्षेत्र से लगे नैनीताल हाईवे के चौड़ीकरण की कवायद तेज हो गई है। प्रारंभिक चरा के तहत प्रशासन और बीआरओ के अधिकारियों ने बाजार में सड़क का जायजा लिया। बताया जा रहा है कि सिमली बैंड तक हाईवे का सात किमी चौड़ीकरण किया जा सकता है। जिसकी कुल चौड़ाई करीब बीस मीटर बताई जा रही है। कर्णप्रयाग-नैनीताल हाईवे का चौड़ीकरण भारतमाला परियोजना के तहत प्रस्तावित है। बताया जा रहा है कि इसी क्रम में कर्णप्रयाग से सिमली तक सात किमी का चौड़ीकरण सीमा सड़क संगठन(बीआरओ) करेगा। हालांकि अभी यह हाईवे राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण खंड रूद्रप्रयाग के पास है। लेकिन चौड़ीकरण की प्रारंभिक कार्रवाई बीआरओ से बुधवार से शुरू कर दी है।
बीस मीटर चौड़ा हुआ बाजार होगा प्रभावित: प्रारंभिक सर्वे के अनुसार बीआरओ द्वारा सड़क को चौड़ा करने के लिए बीस मीटर चौड़ाई मापी गई है। लोगों का कहना है कर्णप्रयाग मुख्य बाजार के एक ओर पहाड़ी और दूसरी ओर नदी है। ऐसे में यहां सड़क बीस मीटर चौड़ी हई तो बाजार की दुकानें अधिकत सड़क में समाहित हो जाएंगी। जिससे दर्जनों लोग बेरोजगार हो सकते हैं।
भूस्खलन भी बनेगा मुसीबत: नैनीताल हाईवे पर बहुमंजिला पार्किंग से आगे करीब सौ मीटर हिस्से में अपर बाजार का रामलीला मैदान, हनुमान मंदिर और मस्जिद मुहल्ला आदि क्षेत्र भूस्खलन की चपेट में हैं। स्थानीय निवासी हरिकृष्ण भट्ट का कहना है कि बीस मीटर चौड़ाई में इस भूस्खलन क्षेत्र में भारी नुकसान हो सकता है। प्रारंभिक चरण के प्रस्ताव में बीआरओ को भूस्खलन क्षेत्र के ट्रीटमेंट की व्यवस्था भी करनी चाहिए।
बोले अधिकारी : तहसीलदार सोहन सिंह रांगड़ ने बताया कि कर्णप्रयाग से सिमली तक सात किमी करीब हाईवे के चौड़ीकरण का प्रपोजल है। करीब बीस मीटर की चौड़ाई में होने वाले चौड़ीकरण के लिए तमाम प्रस्ताव तैयार कर केंद्र सरकार को भेजे जाने हैं। बुधवार को इसके लिए प्राथमिक सर्वे की गई। हालांकि इसमें ऑलवेदर की तरह बारह या पंद्रह मीटर रखने की मांग केंद्र सरकार से की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!