केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक बोले, स्कूल खोलने का फैसला राज्य सरकारों के हाथ

Spread the love

देहरादून। कोरोना वायरस से लड़ने में देश के लोग और सरकारें काबिल साबित हुई हैं। खासतौर पर अनलाइन पढ़ाई को लेकर पूरे देशभर में जिस तरह से काम हुआ वह सराहनीय है। राज्य सरकारें अपने-अपने राज्यों में वहां की स्थिति के हिसाब से स्कूल एवं कलेज खोलने के लिए स्वतंत्र हैं। लेकिन इसमें छात्र-छात्राओं की सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखा जाना जरूरी होगा, यह बात केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने देहरादून रीजन के सीबीएसई क्षेत्रीय दफ्तर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही।
शुक्रवार को निशंक क्षेत्रीय दफ्तर से अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वरधा के दीक्षांत समारोह में अनलाइन माध्यम से शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कोरोना काल में देशभर के स्कूल एवं कलेजों में पढ़ने वाले करीब करीब 33 करोड़ छात्र-छात्राओं को अनलाइन माध्यम से पढ़ाई करवायी गई। कहा कि सीबीएसई स्कूलों को मडल स्कूलों के तौर पर पेश करना शिक्षा मंत्रालय की योजना है। उन्होंने इस दौरान नई शिक्षा नीति की भी विस्तृत जानकारी दी। कहा कि नई नीति के तहत व्यवसायिक शिक्षा को बढ़ावा दिया जाएगा। भारत पहला देश होगा जहां स्कूल में ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की पढ़ाई करवाई जाएगी।
प्रेस वार्ता में षि कानूनों पर सवाल पूटे जाने पर निशंक ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा किसानों के हित में तीनों नए कानून बनाए गए हैं। इन्हीं के जरिए आने वाले समय में किसानों की आय दोगुनी होगी। इन कानूनों पर सवाल खड़े करने वाली पार्टियां बताएं कि उन्होंने पिछले 70 सालों में क्या निर्णय लिए। कुंभ मेले पर अपनी बात रखते हुए उन्होंने कहा कि इन परिस्थितियों में अनुशासन एवं सुरक्षा के साथ मेले का आयोजन होना जरूरी है। कहा कि मेरे लिए सौ फीसद काम पूरा होना जरूरी है, ऐसे में कुंभ से पहले सभी टारगेट पूरे होने जरूरी हैं। मनीष सिसोदिया के दौरे पर उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि यह उनका पार्टी की ओर से किया गया दौरा था, मैं भी कभी आप लोग को दिल्ली के स्कूलों के हाल दिखाऊंगा।
सीबीएसई दून रीजन के पास जल्द अपना भवन होगा। क्षेत्रीय निदेशक रणबीर सिंह के लंबे प्रयासों के बाद साल 2018 में राज्य सरकार द्वारा दून विश्वविद्यालय के पास करीब दो एकड़ जमीन आवंटित तो कर दी गई लेकिन अब तक इस पर भवन बनने का काम शुरू नहीं हो सका। क्षेत्रीय अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया कि अब जल्द सीबीएसई भवन का काम शुरू हो सकेगा। इसके लिए नक्शा तैयार करने का काम भी शुरू हो गया है। मौके क्षेत्रीय निदेशक ने निशंक से नवोदय विद्यालय समिति का संभागीय दफ्तर खोलने की मांग भी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!