खड़िया खनन पर रोक लगाने की मांग की

Spread the love

पिथौरागढ़। ग्रामीणों ने ग्राम बजेता में प्रस्तावित खड़िया खनन पर रोक लगाने की मांग की है। कहा कि खनन से 65 परिवारों के लिए खतरा पैदा हो जाएगा।
उन्होंने खनन पर रोग न लगने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। बजेता की प्रधान भावना देवी ने डीएम को पत्र देकर प्रस्तावित खनन को रोकने की मांग की है।
उन्होंने कहा कि यदि खनन शुरू होता है तो अनुसूचित जाति के 25 और कोलियाबगड़ में सामान्य वर्ग के 40 परिवारों खतरे की जद में आ जाएंगे। कहा कि
20जुलाई 1970 में कोलियाबगड़ में 10 परिवार भूस्खलन से बेघर हो गए थे। मकानों के साथ ही जानवर भी भूस्खलन की भेंट चढ़ गए थे। दफन हो गए थे। वर्ष
2011 में भूस्खलन से राया के 5लोगों को जान गंवानी पड़ी। बावजूद इसके यहां फिर से खनन प्रस्तावित कर दिया गया। कहा खनन से पेयजल स्रोत, गौचर, पनघट
नष्ट हो जाएंगे और राया, डुगरी, सेलममली, बांसबगड़, खेतभराड़ के ग्रामीणों के सामने आपदा का खतरा मंडराएगा। उन्होंने कहा अधिकारियों ने ग्रामीणों की राय के
बगैर ही रिपोर्ट तैयार की। पूर्व में भी ग्रामीण 6 फरवरी 2020 को डीएम कार्यालय में प्रदर्शन कर चुके हैं। बावजूद इसके समस्या का समाधान नहीं हुआ। चेतावनी
देते हुए कहा खनन पर रोक नहीं लगाई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!