कोटद्वार डकैती का सनसनीखेज खुलासा: करीबी रिश्तेदार ही निकला मास्टर माइंड, पांच गिरफ्तार

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार में आठ साल बाद पिछले साल के आखिर हफ्ते में हुई डकैती का सनसनीखेज खुलासा हो गया है। सनसनीखेज खुलासे में डकैती का मास्टर माइंड डकैती का शिकार प्रमोद कुमार प्रजापति का रिश्तेदार ही निकला। जो अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है, लेकिन पुलिस ने डकैती करने वाले छ: लोगों में से पांच को गिरफ्तार कर माल व नगदी की कुछ बरामदगी भी कर ली है।
कोटद्वार में हुई सनसनीखेज डकैती का खुलासा करते हुए पौड़ी गढ़वाल पुलिस प्रमुख एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि विगत माह 25 दिसम्बर को सिताबपुर तल्ला में प्रमोद कुमार प्रजापति के घर हुई डकैती में उसके करीबी रिश्तेदार का प्लान सामने आया है। वादी प्रमोद कुमार के करीबी रिश्तेदार प्रवीण प्रजापति ने ही हत्या/चोरी/लूट के अपराधी राजकुमार उर्फ छोटा सहित छ: लोगों को प्रमोद कुमार के बारे में व उसके कोटद्वार स्थित घर के बारे में जानकारी दी कि वह काफी पैसे वाला है, वहां डकैती डालने से काफी ज्वेलरी व कैश मिल सकता है। प्रवीण प्रजापति का वादी प्रमोद प्रजापति के घर पहले आना जाना था जिसके तहत उसने राजकुमार सहित छ: लोगोें को घर का पूरा हूलिया बताकर डकैती डालने की योजना बनाई। खास बात यह है कि इस डकैती में शामिल अपराधियों की उम्र 20 से 33 वर्ष के बीच है।
एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि डकैती का खुलासा करने पर कोटद्वार पुलिस को डीआईजी गढ़वाल द्वारा 20 हजार रूपये का इनाम देने की घोषणा की गई है। एसएसपी ने बताया कि अपराधियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह एक माह पूर्व प्रमोद प्रजापति के घर रेकी करने आये थे और इसके बाद डकैती की योजना बनाई। अपराधियों ने यह भी बताया कि सुबह के समय प्रमोद प्रजापति के परिजन दूध लेने के लिए सुबह ही गेट खोल देते है और आस पड़ोस के लोग सुबह के समय घर से बहुत ही कम बाहर निकलते है, इसलिए डकैती करने के लिए सुबह का समय ही सबसे उपयुक्त रहेगा। एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि 25 दिसम्बर 2020 को छ: लोग तीन मोटर साइकिलों में सवार होकर कौड़िया बैरियर से कौड़िया आये और प्रमोद प्रजापति के घर डकैती करने के बाद लालढांग-चिल्लरखाल बैरियर से होते हुए हरिद्वार पहुंचे। इसके बाद वह मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश पहुंच गये। एसएसपी ने बताया कि डकैती का खुलासा करने में सीसीटीवी फुटेज और मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश के शोरूम से खरीदी गई अपाची बाइक से अहम सुराग मिले। इन्हीं की मदद व मुखबिरों की सूचना से पुलिस ने पांच अपराधियों को मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया।
एसएसपी ने बताया कि अपराधियों के पास से कगंन पीली धाते के दो, मंगलसूत्र एक, पीली मोतियों की माला एक, सफेद मोती की माला दो, लाल मोती की माला एक, अंगूठी कछुआनूमा पीली सफेद धातु एक, चैन पीली धातु दो, सफेद धातु की पायल एक जोड़ी, लेडीज अंगूठी पीली धातु एक, पुरानी सफेद धातु की पायल एक जोड़ी जिनकी कीमत करीब चार लाख रूपये व दो लाख साठ हजार रूपये की धनराशि, एक चैक बुक यूनियन बैंक प्रमोद कुमार देवी रोड़ के नाम व दो चाकू, तीन तमंचे 315 बोर व आठ जिंदा कारतूस बरामद की गई है। इसके अलावा घटना में प्रयुक्त तीन मोटर साईकिल भी बरामद की गई है। एसएसपी ने बताया कि वादी प्रमोद कुमार प्रजापति ने छ: लाख की नगदी और 4 लाख की ज्वेलरी डकैतों द्वारा ले जाने के सम्बन्ध में तहरीर दर्ज कराई थी।
पुलिस टीम में पुलिस उपाधीक्षक अनिल कुमार जोशी, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह बिष्ट, एसओजी प्रभारी रफत अली, वरिष्ठ उपनिरीक्षक प्रदीप नेगी, उपनिरीक्षक सुनील पंवार, कलालघाटी पुलिस चौकी प्रभारी कमलेश शर्मा, बाजार पुलिस चौकी प्रभारी संदीप शर्मा, उपनिरीक्षक विकसित पंवार, हेड कांस्टेबल सुशील, कांस्टेबल सुनीत कुमार थाना लक्ष्मणझूला, आदिल अली, अमरजीत, हरीश, कुलदीप, गजेन्द्र, सोनू कुमार, शेखर सैनी, नवीन क्षेत्री, कैलाश शाह, देवेन्द्र, अरविन्द राय, चेतन सिंह, संतोष सिंह, टीकम सिंह आदि शामिल थे।

हरिद्वार में भी 22 लाख की लूट को दिया था अंजाम
कोटद्वार। पौड़ी गढ़वाल पुलिस प्रमुख एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि पुलिस पूछताछ में में अभियुक्त राजकुमार उर्फ छोटा ने बताया कि प्रवीण प्रजापति वादी प्रमोद कुमार का करीबी रिश्तेदार है। प्रवीण प्रजापति ने उन्हें जानकारी दी कि वह काफी धनवान व्यक्ति है। साथ ही अन्य जानकारियां भी दी। जिसके फलस्वरुप उन्होंने कपिल कुमार उर्फ रावण, संदीप कुमार उर्फ पिंटू, संजीव कुमार उर्फ सोनू, धीरज, अंकित पुण्डीर व प्रवीण प्रजापति ने मिलकर प्रमोद कुमार के घर में डकैती करने की रणनीति बनाई। रणनीति के तहत 25 दिसम्बर 2020 को प्रमोद कुमार के घर में डकैती की घटना को अंजाम दिया। इसके अतिरिक्त अभियुक्त राजकुमार व अभियुक्त कपिल कुमार उर्फ रावण उर्फ बड़ा ने अपने साथी अंकित उर्फ बबलू पुत्र प्रदीप निवासी ग्राम बिरालसी थाना चरथावल जिला मुजफ्फनगर उत्तर प्रदेश के साथ मिलकर 13 सितम्बर 2020 को थाना कनखल जनपद हरिद्वार क्षेत्र में 22 लाख लूट की घटना को अंजाम दिया था। जिस सम्बन्ध में थाना कनखल जनपद हरिद्वार में अभियोग पंजीकृत है। अभियुक्तों द्वारा पश्चिमी उत्तर प्रदेश व अन्यत्र भी लूट/डकैती की घटना करना प्रकाश में आया है। एसएसपी ने बताया कि अभियुक्तों के आपराधिक इतिहास की जानकारी ली जा रही है। अभियुक्तों के खिलाफ आम्र्स एक्ट में भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

जल्द होगा मास्टर माइंट गिरफ्तार
कोटद्वार। पौड़ी गढ़वाल पुलिस प्रमुख एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि डकैती की घटना के मास्टर माइंट प्रवीण प्रजापति पुत्र चन्द्रपाल व डकैती में शामिल अंकित पुण्डीर पुत्र प्रदीप को शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उनकी गिरफ्तारी के लिए जनपद पुलिस प्रयासरत है। एसएसपी ने कोटद्वार पुलिस की सराहना करते हुए कहा कि डकैती का खुलासा करने में कोटद्वार पुलिस ने पिछले नौ दिनों में बहुत ही मेहनत की है। पुलिस की मेहनत से ही डकैती का खुलासा हो पाया है।

डकैती मामले में इन्हें किया गिरफ्तार
कोटद्वार। पौड़ी गढ़वाल पुलिस प्रमुख एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि डकैती मामले में राजकुमार उर्फ छोटा पुत्र जयवीर उम्र 33 वर्ष, निवासी बरवाला, थाना शाहपुर, जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश। राजकुमार के खिलाफ जिला मुजफ्फरनगर में हत्या/लूट/चोरी आदि के 10 से 12 अभियोग पंजीकृत है। जिसमे अभियुक्त 8 साल की जेल भी काट चुका है। कपिल कुमार उर्फ रावण पुत्र निर्दोष सिंह उम्र 25 वर्ष, निवासी नियामू थाना चरथावल, जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, संदीप कुमार उर्फ पिन्टू पुत्र देशवीर उम्र 20 वर्ष, निवासी लिलोनखेड़ी, थाना शामली, जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, संजीव कुमार उर्फ सोनू पुत्र रामचन्द्र उम्र 25 वर्ष, निवासी शारदानगर, थाना कुतुबसेर, जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश, धीरज पुत्र जयपाल सिह उम्र 29 वर्ष, निवासी विरालसी, थाना चरथावल, जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार किया गया है।

यह है फरार अभियुक्त
कोटद्वार। पौड़ी गढ़वाल पुलिस प्रमुख एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि अंकित पुण्डीर पुत्र प्रदीप उम्र 25 वर्ष, निवासी विरालसी, थाना चरथावल, जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश और प्रवीण प्रजापति पुत्र चन्द्रपाल निवासी पिन्ना, थाना नगर मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश फरार चल रहे है। अंकित पुण्डीर के खिलाफ थाना चरथावल मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश में आईपीसी की धारा 392, 411, 307, 41, 102, 420, 467, 468, 471, 414, 511, 25 आम्र्स एक्ट, 2/3 गैगस्टर एक्ट व अन्य अभियोग पंजीकृत है।

70 लाख नगदी और 20 तोला ज्वेलरी की दी थी सूचना
कोटद्वार। पुलिस पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि प्रवीण प्रजापति पुत्र चन्द्रपाल निवासी पिन्ना, थाना नगर मुजफ्फरनगर ने उन्हें प्रमोद कुमार प्रजापति निवासी सिताबपुर तल्ला कोटद्वार के घर में 70 लाख की नगदी और 20 तोला ज्वेलरी मौजूद होने की सूचना दी थी। पौड़ी गढ़वाल पुलिस प्रमुख एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि डकैती से कुछ दिन पहले ही प्रमोद कुमार प्रजापति ने ज्वेलरी को बैंक के लॉकर में रखवा दिया था, जबकि नगदी को भी कहीं और रखा था।

छ: टीमें लगी थी मामले का खुलासा करने में
कोटद्वार। पौड़ी गढ़वाल पुलिस प्रमुख एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि डकैती का खुलासा करने के लिए पुलिस की छ: टीमें गठित की गई थी। प्रत्येक टीम को टास्क दिया गया था। टीमों ने टास्क के अनुसार काम करने से ही डकैती करने वाले अपराधियों को पुलिस गिरफ्तार करने में सफल रही है।

25 दिसम्बर को हुई थी डकैती
कोटद्वार। सिताबपुर तल्ला निवासी प्रमोद प्रजापति पुत्र स्व. रामफूल प्रजापति की हरिद्वार में टाइल्स की फैक्ट्री और आटे की मील है। विगत 25 दिसम्बर को सुबह 7 बजे देवी रोड स्थित खुशी होटल के पीछे सिताबपुर निवासी प्रमोद कुमार प्रजापति के घर पांच हथियारबंद बदमाशों ने डकैती कर लाखों की नगदी और घर में रखे गहने लूट दिये थे। बदमाश प्रमोद कुमार की पत्नी व माँ के पहने हुए गहने भी उतारकर ले गये थे। हथियारबंद बदमाशों ने उद्योगपति की माता, पत्नी व पुत्री को बंधक बनाकर लगभग 40 मिनट तक पूरा घर खंगाला था। सूचना पर अपर पुलिस अधीक्षक प्रदीप राय, पुलिस उपाधीक्षक अनिल जोशी, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह बिष्ट, एसएसआई प्रदीप नेगी, सीआईयू प्रभारी रफत अली, बाजार पुलिस चौकी प्रभारी संदीप शर्मा पुलिस टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे थे। पुलिस ने घटना स्थल का निरीक्षण कर कुछ सामान को साक्ष्य के तौर पर अपने पास रख लिया था। मामले की जांच के लिए श्रीनगर से एफएसएल (विधि विज्ञान प्रयोगशाला) टीम कोटद्वार पहुंची थी। टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाये थे। वहीं पुलिस की विभिन्न टीमों ने जगह-जगह सीसीटीवी फुटेज खंगाली। कोतवाली पुलिस ने पीड़ित प्रमोद कुमार प्रजापति की तहरीर के आधार पर पांच अज्ञात बदमाशों के खिलाफ आईपीसी की धारा 395 और 398 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!