कोटद्वार में छाया कोहरा, दो दिन से नहीं हुए सूर्य देव के दर्शन

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार में गत रविवार से कोहरा छाने से ठिठुरन बढ़ गई है। रात का पारा लगातार नीचे जा रहा है। सोमवार को भी कोहरा छाया रहा। दो दिन से आसमान में बादल छाने से सूर्य देव के दर्शन नहीं हो पाये। दिनभर सर्द हवाएं चलती रहीं। इसके कारण तेज ठंड पड़ी। इधर, लगातार बढ़ रही ठंड के चलते नगर निगम की ओर से ठंड से राहत दिलाने के लिए मुख्य चौराहों पर अलाव की व्यवस्था की गई है।
कोटद्वार में सदी का असर तेज होने लगा है। असामान में बादल छाने के साथ ही सुबह चारो तरफ कोहरा छाया रहा। सुबह सुबह कोहरा इतना घना था कि आस का भी नजर नहीं रहा था। वाहनों की लाइटें भी काफी मद्यम नजर रही थी। हाईवे पर कोहरे की वजह से वाहनों की रफ्तार धीरे करनी पड़ी। लोग सुबह देर तक बिस्तरों में भी दुबके नजर आए। कोटद्वार में तापमान में काफी गिरावट रही। सोमवार को सूरज भी नजर नहीं आया। यही हाल रविवार को भी था। तापमान में कमी रही जिससे लोग दिनभर गर्म कपड़ों में लिपटे रहे। सूर्यास्त के साथ ही ठिठुरन और अधिक हो गई जिससे जल्दी ही लोग अपने घरों को चले गए जिससे बाजार सूने हो गए। डॉक्टरों के अनुसार इस मौसम में थोड़ी सी लापरवाही सेहत पर भारी पड़ सकती है। लिहाजा सतर्कता और सावधानी बरतें। सर्दी सबसे अधिक नौनिहालों को प्रभावित कर रही है। गौरतलब हो कि सर्दी का मौसम नौनिहालों के लिए सबसे अधिक खतरनाक होता है। डॉक्टरों का कहना है कि इस मौसम में बच्चों को खांसी-जुकाम के कारण निमोनिया होने का अधिक खतरा रहता है। ऐसे में बच्चों को पूरी सावधानी के साथ रखना चाहिए। इनके अलावा सर्दी के मौसम में सबसे ज्यादा परेशानी ह्रदय रोगियों को आती है। इस मौसम में रक्त गाढ़ा हो जाता है, जिससे रक्तचाप बढ़ जाता है। इस मौसम में लोग ज्यादा कैलोरी वाला भोजन लेते हैं जिससे केलोस्ट्रॉल काफी तेजी से बढ़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!