कोटद्वार में सुविधा के बजाय समस्या बने कूड़ेदान

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र में कूड़ेदान लोगों की सुविधा के बजाय समस्या बने हुए हैं। घरों से चंद कदम की ही दूरी पर होने के कारण ये बीमारियां बांट रहे हैं। लोग इन्हें हटाने व समय पर इनकी सफाई की मांग भी कर रहे हैं। लोगों को इस बात का मलाल है कि समय पर इनकी सफाई करके उनकी समस्याएं कुछ हद तक कम की जा सकती हैं, पर वह भी नहीं किया जा रहा है।
ग्रामीण विकास नागरिक मंच कोटद्वार केअध्यक्ष प्रवेश चन्द्र नवानी ने नगर आयुक्त को सौंपे ज्ञापन में कहा कि देवी मंदिर के पास रखा गया कूड़ादान लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। देवी मंदिर के मुख्य द्वार के समाने जनता की सुविधा हेतु रखा गया कूड़ादान पर्यावरण एवं मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए घातक सिद्ध हो रहा है। क्षेत्र के लोग इस समस्या से परेशान हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि जनता लापरवाही से कूड़ा फेंक देती है जो सड़क पर फैल जाता है। रही सही कसर आवारा सांड़, कुत्ते पूरी कर देते है। सड़क पर कूड़ा फैला होने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कूड़ेदान की समय पर सफाई न होने से कूड़ा सड़क पर बिखरा रहता है। जिससे राहगीरों व वाहनों को आने-जाने में भी परेशानी होती है। प्रवेश नवानी ने जनहित में देवी मंदिर तिराहे से कूड़ेदान को अन्यत्र शिफ्ट करने की मांग की है।

काशीरामपुर तल्ला में भी बुरा हाल
कोटद्वार। काशीरामपुर तल्ला रोड पर कड़ा सड़क किनारे फैला रहता है। यहां पर तो कूड़ा रखने के लिए कूड़ादान भी नहीं रखा गया है। लोग घरों का कूड़ा सड़क किनारे ही फेंक देते है। यह फैलकर बीच रास्ते तक पहुंच जाता है। इसकी वजह से जाम तो लगता है ही है, गंदगी के कारण लोग बीमार भी पड़ते हैं। लोंगों की शिकायात है कि कई बार नगर निगम के अधिकारियों को अवगत कराने के बावजूद भी समस्या का निराकरण नहीं हो रहा है। गंदगी के कारण हम परेशान हो चुके हैं। मुख्य सड़क पर तो गंदगी होने से हमेशा दुर्गंध आती रहती है। लोगों का कहना है कि यहां पर कूड़ादान रखा जाना चाहिए। ताकि हमें कूड़ा व गंदगी से राहत मिल सके। हमने इसके लिए कई बार शिकायत की लेकिन कुछ भी नहीं हुआ। कूड़े के कारण बच्चों को बीमारी हो रही है। लोगों को कूड़े की वजह से काफी मुश्किल हो रही है। कूड़ा नियमित रूप से हटाया भी नहीं जाता है जिस कारण यह मुश्किल और बढ़ जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!