लेह सीमा पर शहीद सैनिकों को कांग्रेस ने श्रद्धांजलि दी

Spread the love

बागेश्वर। लेह सीमा पर चीन के साथ मुठभेड़ में शहीद सैनिकों को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने श्रद्धांजलि दी। गांधी चौक पर दो घंटे का उपवास रखा। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने इस मुठभेड़ को केंद्र की अदूरदर्शिता का परिणाम बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा की करनी और कथनी में धरती-आसमान का अंतर है। जब वह सत्ता से बाहर होती है तब कुछ और कहती है, जब सत्ता हथिया लेती है तो उसके सुर बदल जाते हैं। राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता कोतवाली के पास स्थित गांधी चौक पर पहुंचे। यहां शहीद सैनिकों के सम्मान में शोक सभा की। शहीर परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की। इसके बाद सभी कार्यकर्ताओं ने दो घंटे उपवास रखा। उपवास के बाद आयोजित सभा में सांसद टम्टा ने कहा कि कोरोना से पूरा देश परेशान है। लोगों की नौकरियां चली गई हैं। लोगों के पास आने-जाने के लिए किराया तक नहीं है। सरकार उनकी समस्या समझने के बजाए किराया दोगुना करने पर तुली है। अपने खर्चों में कमी नहीं कर रही है। कोरोना काल में ही 36 इनोवा कार खरीद ली हैं। देश की सुरक्षा के मामले में भी केंद्र सरकार सही बात लोगों तक नहीं पहुंचा रही है। चीन ने भारत में कब्जा करने की साजिश कर दी है, सरकार अपनी कार्रवाई से लोगों को बताने से डर रही है। उनकी कथनी और करनी में अंतर लोगों के समझ में आने लगा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष लोकमणि पाठक ने किया। इस मौके पर प्रदेश महामंत्री ललित फर्स्वाण, बालकृष्ण, पूर्व जिपं अध्यक्ष हरीश ऐठानी, राजेंद्र टंगड़िया, महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष गीता रावल, बहादुर सिंह बिष्ट, महेश पंत, धीरज कोरंगा, विनोद पाठक, इंदिरा जोशी, गीतांजलि, लक्ष्मण आर्या, जिपं सदस्य सुरेंद्र खेतवाल आदि मौजूद रहे। सभा के दौरान कार्यकर्ताओं ने मास्क तो पहना लेकिन सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!