महिलाओं को स्वरोजगार देने को प्रेरणा बनी उज्जवला सामाजिक संस्था: हरक सिंह

Spread the love

वन मंत्री हरक सिंह रावत को भेंट किया स्मृति चिह्न
विभिन्न प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रतिभाग करने वाले लगभग 35 प्रतिभागियों को दिया प्रशस्ति पत्र
उज्जवला सामाजिक संस्था ने धूमधाम से मनाया संस्था का द्वितीय वार्षिकोत्सव
जूट, बांस और भीमल से बने स्थानीय उत्पादों की लगाई प्रदर्शनी
आर्कषण का केंद्र बना रहा सेल्फी प्वाइंट
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार।
‘‘सेवा सर्वोत्तम सुख है’’ के उद्देश्य से क्षेत्र में बेहतर कार्य रही उज्जवला सामाजिक संस्था ने शनिवार को अपना द्वितीय वार्षिकोत्सव रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ धूमधाम से मनाया। इस मौके पर जूट, बांस और भीमल से बने स्थानीय उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई गई। इसके अलावा कार्यक्रम स्थल पर बना सेल्फी प्वाइंट महिलाओं के लिए आकर्षण का केंद्र बना रहा।

बद्रीनाथ रोड स्थित प्रेक्षागृह में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रदेश के वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, विशिष्ट अतिथि पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष पौड़ी सुमन कोटनाला, जीएमओयूलि की जनरल मैनेजर ऊषा सजवाण, पूर्व प्रधान काशीरामपुर सुनीता देवी और संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने संस्था के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि जहां चाह वहां राह होती है। उज्जवला संस्था ने क्षेत्र की बेरोजगार महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान कर एक सराहनीय कार्य किया है। कहा कि अपने लिए सब जीते हैं, लेकिन दूसरों के लिए जीकर देखों, तो जीवन जीने में अलग ही आनंद आता है। इसी तरह संस्था अपने लिए नहीं बल्कि दूसरों के लिए कार्य कर रही है। कहा कि पहले गांव में भीमल के पेड़ से रस्सी बनाई जाती थी, लेकिन अब गांवों में ऐसा कुछ नहीं है। ग्रामीण क्षेत्रों में भीमल के पेड़ एक समय में इतने हो गए थे कि लोगों ने उन्हें जलाना शुरू कर दिया, लेकिन उज्जवला सामाजिक संस्था ने गांवों से विमल खरीद कर ग्रामीणों को भी रोजगार दिया है। कहा कि इस तरह की संस्था, जिन्होंने बेरोजगार महिलाओं को स्वरोजगार देकर आत्मनिर्भर बनाया है, ऐसी संस्था के लिए प्रदेश सरकार हमेशा उनके साथ है। इससे पूर्व वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने कार्यक्रम स्थल पर जूट, बांस और भीमल के पेड़ से महिलाओं द्वारा बनाये गये स्थानीय उत्पाद भी देखें। उन्होंने संस्था की महिलाओं द्वारा बनाए गए सुंदर उत्पादों की भी प्रशंसा की।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने कहा कि संस्था ने दो वर्ष में महिलाओं के लिए बेहतर कार्य किया है। संस्था महिला सशक्तिकरण को लेकर कार्य कर रही है। महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया है। कहा कि कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान संस्था से जुड़ी महिलाओं ने श्रम विभाग की ओर से दी गई सिलाई मशीनों से मास्क तैयार कर अपने परिवार की आर्थिकी को मजबूत किया। संस्था ने कोरोनाकाल में मास्क जरूरतमंद लोगों को नि:शुल्क वितरित किए।

रश्मि सिंह ने बताया कि पहाड़ों से कच्चा माल लाकर भीमल से उत्पाद तैयार किये जा रहे है। भीमल से पर्स, चप्पल, पायदान सहित अन्य सामान तैयार किया जा रहा है। वहीं पॉलीथिन के विकल्प के रूप में जूट के बैग तैयार किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि नशे से दूर रखने के लिए संस्था की ओर से समय-समय पर प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। पूर्व में संस्था की ओर से आदर्श कन्या विवाह कराया गया। भविष्य में भी संस्था गरीब युवतियों का आदर्श कन्या विवाह करायेगी। उन्होंने युवा पीढ़ी से योग को अपने जीवन में अपनाने की अपील करते हुए कहा कि योग से शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है। विशिष्ट अतिथि जीएमओयूलि की जनरल मैनेजर ऊषा सजवाण ने कहा कि उज्जवला सामाजिक संस्था महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बेहतर कार्य कर रही हैं, जिससे कई जरूरतमंद महिलाओं की आर्थिकी भी मजबूत हुई है। कहा कि प्रदेश के वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के प्रयासों से कोटद्वार को कण्वनगरी का नाम मिला है। कोटद्वार का नाम कण्वनगरी होने से नारी शक्ति को सम्मान मिला है। इस मौके पर संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह की ओर से प्रदेश के वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत को स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम स्थल पर प्रशांत शर्मा की ओर से बना सेल्फी प्वाइंट आकर्षण का केंद्र बना रहा। जहां कई महिलाओं ने संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह के साथ सेल्फी भी खींची।

इस मौके पर प्रियंका कंडवाल एण्ड ग्रुप ने योगा डांस की प्रस्तुति दी, जिसकी उपस्थित सभी लोगों ने सराहना की। इसके बाद पुष्पा और साथियों ने महिला हास्य नृत्य, हैस टैग एन-9 कॉलेज ग्रुप ने डांस की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में चित्रकला, वाद-विवाद प्रतियोगिता के विजेताओं, स्वरोजगार के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने पर अदिति, यश रावत, रजनी, पंकज, अनीता उपाध्याय, मीना राणा को काबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया। इस मौके पर सुनीता कोटनाला, पार्षद लीला कर्णवाल, मंजू जखमोला, अभिलाषा भारद्वाज, ऊषा रावत, पूनम थपलियाल, रानी नेगी, अनीता उपाध्याय, माधुरी डबराल, मीनाक्षी शर्मा, डॉ. तनु मित्तल, शशिबाला केष्टवाल, सीमा सजवाण, उमा नेगी, पूनम खंतवाल, आशा डबराल, वन मंत्री के ओएसडी विनोद रावत, पीआरओ सीपी नैथानी, हरीश खरक्वाल, उमेश त्रिपाठी, कमलेश कोटनाला, अभिनव शर्मा, पार्षद कुलदीप रावत, विवेक अग्रवाल, प्रमोद भाटिया, महेश भाटिया, कमलेश कोटनाला सहित अन्य लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन रेनू कोटनाला ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!