मानसून सीजन में कोई भी अधिकारी लापरवाई न बरतें

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने जनपद में मानसून सीजन के दौरान बारिश, दैवीय आपदा से होने वाले संभावित नुकसान को दृष्टिगत रखते हुए अधिकारियों को आपदा से निपटने के लिए मुस्तैदी के साथ तैयार रहने के निर्देश दिए। उन्होंने बीते वर्ष मानसून सीजन में हुई क्षति की जानकारी भी ली। डीएम ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि मानसून सीजन से पूर्व जनपद में जितने भी बरसाती नालों व नदियों के किनारे रहे लोगों को खाली करने को कहा। मानसून सीजन में कोई भी अधिकारी लापरवाई न बरतें।
बुधवार को विकासभवन सभागार में मानसून सीजन की पूर्व तैयारी को लेकर जिलाधिकारी ने आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक ली। जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने कहा कि आपदा से निपटने के लिए संबंधित अधिकारी तैयार रहें। उन्होंने मानसून सीजन के दौरान बारिश होने से क्षेत्रों में पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त होने के दृष्टिगत मरम्मत करने के लिए जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी को जल संस्थान पौड़ी व कोटद्वार के लिए पांच-पांच लाख की धनराशि जारी करने के निर्देश भी दिए। जिलाधिकारी ने श्रीनगर-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग पर क्षतिग्रस्त मार्ग का सुधारीकरण न किए जाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने संबंधित अधिकारी को जल्द सुधारीकरण करने के निर्देश दिए। इसके अलावा डीएम ने मानसून अवधि में दैवीय आपदा से संबंधित सूचनाओं का आदान-प्रदान के साथ ही रेखीय विभाग व तहसील स्तर पर कंट्रोल रुम स्थापित करने को कहा। डीएम ने वन विभाग, जल संस्थान, सिचाई विभाग, पुलिस, लोनिवि, विद्युत विभाग समेत अन्य संबंधित विभाग को भी मानसून के दौरान दैवी आपदा से संबंधित सूचनाएं हर रोज कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इस दौरान आयोजित बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिह कुंवर, मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु खुराना, अपर जिलाधिकारी डॉ. एसके बरनवाल, सीएमओ डॉ. मनोज बहुखंडी, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, एपीडी सुनील कुमार आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!